3 बच्चों को ले कर थाने पहुची नर्गिस . बोली- शराब के पैसे नहीं दे सकी पति को , साहब यही इतनी गलती है मेरी - Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar -

Breaking News:

3 बच्चों को ले कर थाने पहुची नर्गिस . बोली- शराब के पैसे नहीं दे सकी पति को , साहब यही इतनी गलती है मेरी


नरगिस की शादी 11 साल पहले हुई थी . जब नियाज़ ने उस से निकाह किया था . 11 साल की पीड़ा बताते हुए उसकी आँखे पथरा सी गयीं .

कोरोना से पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

11 साल पहले जब मेरठ कोतवाली बनियापाडे की रहने वाली नर्गिस शादी कर के नियाज़ के घर पिलोखड़ी क्षेत्र में आयी तो उसके सपनो में एक बेहद शांत , उसे मानने वाला और उसको ढेर सारा सम्मान और प्यार देने वाला पति था वो ..पर वक्त ने उसके सपने को चूर चूर कर डाला . अंत में बाकी कसर एक प्रथा ने पूरी कर दी जिसे आज बहुचर्चित रूप में 3 तलाक कहा जाता है . 

नर्गिस ने कहा कि एक के बाद एक कर के 3 औलादें पैदा करता गया नियाज़ आये दिन नर्गिस से पैसे मांगने लगा . नर्गिस बार बार पूछती रही कि कहाँ से लाये वो पैसे वो भी नियाज़ की शराब के लिए . यकीनन इसका उत्तर ना नियाज़ के पास था और ना ही नर्गिस के पास . और निरुत्तर होता नियाज़ तब सिर्फ और सिर्फ नर्गिस को पीटना शुरू कर देता था .. पिटाई को झेलती हुई नर्गिस के बड़े होते बच्चे जब उसे बचाने आते तब वो बच्चे भी पिटाई के शिकार होते .

फिर भी अपने घर और बड़े बुजुर्गों के कहने पर नर्गिस बस यही सोच कर चुप रहती कि वक्त के साथ सब ठीक हो जाएगा . पर सब ठीक होने की आशा में बैठी नर्गिस के साथ एक दिन हुई अनहोनी घटना जब उसके पति ने बेरहमी की हद तक पिटाई करते हुए उसे 3 तलाक बोल दिया .. ये शब्द उसकी जिंदगी बर्बाद करने को काफी थे और ठीक उसी समय वो अपनी 3 मासूम औलादों के साथ सड़क पर आ गयी .  


अब उसका सहारा केवल थाने और कानून हैं .. मेरठ में तब लोगों को आश्चर्य भी हुआ जब नर्गिस को सहारा भाजपा कार्यकर्ताओं की तरफ से मिला . नर्गिस के साथ भाजपा कार्यकर्ता भी थाने पहुंचे और नर्गिस के लिए न्याय की मांग की .. नर्गिस ने अपनी पीड़ा पुलिस को बहते आंसुओं के साथ बताई . नर्गिस की पीड़ा अकेले १ की नहीं बल्कि इस दंश की पीड़ा आज भारत में लाखों महिलाओं को दर्द दे रही है.  


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share