चंदौली के इन लोगों के दिलों में बसे रहेंगे त्रिपुरारी पांडेय, यह दिया भरोसा


चंदौली / उत्तर प्रदेश

आमतौर पर देखा जाता है कि पुलिस विभाग में तैनात अधिकारी आम लोगों के दिलों पर राज तभी कर पाता है जब वह लोगों के सुख दुख में शामिल होता हो। कुछ ऐसा ही करके जिले के लोगों के दिलों पर राज किया है त्रिपुरारी पांडेय ने, *जनपद में कई वर्षों से जीआरपी मुग़लसराय के प्रभारी सहित क्षेत्राधिकारी के रूप में मूल रूप से आजमगढ़ के निवासी त्रिपुरारी पांडेय अपनी कार्यशैली से जनपद के सभी वर्गों के चहेते रहे हैं।

पीड़ितो के लिए मसीहा तथा अपराधियों के लिए काल बन कर त्रिपुरारी पांडे जनपद के लिए एक पुलिस ऑफिसर ही नहीं, बल्कि पीड़ित गरीबों के आत्मीय जन बनकर एक गार्जियन के रूप में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले जाने जाते रहे हैं *वह आए दिन पीड़ित गरीबों के मसीहा के रूप में कार्य करते रहे हैं।* बलुआ थाना के नदेसर गांव निवासी शहीद चंदन राय के परिजनों के लिए आत्मीय जन के साथ शहीद के बहन से रक्षाबंधन पर राखी बनवाने के बाद भाई रूप में सदैव साया के तरह खड़े रहने के बचन का निर्वहन करते रहे हैं

*सकलडीहा क्षेत्र के नरैना गांव के दो दलित बच्चियों की सड़क दुर्घटना के बाद मौत से जूझने पर ट्रामा सेंटर वाराणसी में खुद का सवा लाख रुपये लगा कर उनकी जिंदगी बचाने के बाद उस परिवार के लिए भगवान के रूप में जाने जाते रहे है।* सकलडीहा थाना क्षेत्र के विशुनपुरा गांव निवासी मुन्ना जो बरसों से पागल के रूप में सकलडीहा कस्बा में घूमकर फटे कपड़े में बिन खाये पिये बिता रहा था,

उसे भी एक जीवनदान देते हुए दवा करा कर अपने साथ कुछ दिन रखकर एक सैनिक की तरह तैयार कर उसका जीवन बदल दिया। आज वह अपने घर जाकर परिवारिक जिम्मेदारियों का निर्वहन कर रहा है। *ऐसे न जाने कितने गरीब बेसहारा बच्चियों के मां बाप के रूप में कन्या दान करने तथा यतीम बच्चों को कान्वेंट में शिक्षा दिलाने एवं असहाय पीड़ित परिवार को मकान बनाने जैसी अनेक उदाहरण त्रिपुरारी पांडे द्वारा समाज में दिया गया है।*

अगर उनके किए गए कार्यों का उल्लेख किया जाए तो कई बातें सामने आती जाएंगी। विभाग में इस तरह की कार्य प्रणाली के बहुत कम पुलिस अधिकारी देखने को मिलते हैं । *सीओ त्रिपुरारी पांडे अपने विभागीय जिम्मेदारियों का बखूबी निर्वाहन करते हुए अपने सर्किल क्षेत्र को प्रदेश के सभी सर्किल में कई बार अव्वल भी रखा है।* शनिवार को चकिया से लखनऊ पोस्टिंग होने के बाद जाते समय सीओ त्रिपुरारी पांडेय ने भावुक होते हुए बताया कि यह शासन के निर्देशों का पालन करना हम लोगों की जिम्मेदारी है ।

यहां अधिक समय किसी न किसी रूप में बीता है । इसलिए लोगों को दिली जुड़ाव हो गया है। *हालांकि चंदौली के लोग हमारे दिल में सदैव निवास करेंगे और जैसे भी जहां भी हो सकेगा मैं सबके सुख-दुख में शामिल रहने के लिए तैयार रहूंगा।* उन्होंने लोगों की भावनाओं का कद्र करते हुए समय-समय पर मिलने जुलने की भी बात कही।

प्रशांत सिंह

बेव जर्नलिस्ट

9264915248


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share