Breaking News:

नाबालिक भतीजी को बना लिया अपनी बीबी क्योंकि असली बीबी छोड़ गई थी रज्जाक खान को

एक मासूम जिसने अभी तक अच्छे से होश भी नहीं संभाला था । उसका ही चाचा उसकी जिदंगी को तबाह कर देगा उसने ये सपने में भी नहीं सोचा होगा। मध्य

प्रदेश में एक ऐसा शर्मनाक मामला सामने आया हैं जिसने रिश्ते शब्द को ही तार तार कर दिया। रिश्तो की आड़ मनावता का हवन करने वाला कोई और नहीं

बल्कि उस मासूम का चाचा ही हैं।
 आपको बता दे कि राजस्थान से अपनी बीमारी नानी को देखने मध्य प्रदेश के गुना शहर में आई एक 12 साल की नाबालिग लड़की के जबरन निकाह कराए

जाने का मामला सामने आया है।

आरोपियों ने परिजनों को भी इस बात की भनक नहीं लगने दी। करीब दो महीने बाद इस मामले का खुलासा हुआ, जिसके बाद

पुलिस ने निकाह पढ़ाने वाले इमाम, दूल्हे सहित छह आरोपियों को हिरासत में लिया है।

राजस्थान के छबड़ा जिले से अपनी नानी के घर पहुंची मासूम ने कभी सोचा भी न था कि चोरी छिपे उसका निकाह पढ़ दिया जाएगा। खेलने-कूदने की उमर में

निकाह नाम की जंजीरों से मासूम बच्ची के सपनो को जकड़ दिया जाएगा, लेकिन ऐसा हुआ।

दरअसल, अपनी नानी के घर छुट्टियां बिताने पहुंची मासूम को उसका चाचा रज्जाक खान अपने साथ बहला-फुसला कर ले गया। अपनी पत्नी से दूर रह रहे आरोपी

ने अपनी भतीजी को ही निशाना बनाते हुए निकाह करने का फैसला कर लिया। अपनी भतीजी को अपने घर छुट्टियां मनाने ले गए आरोपी मौसा ने अपने मंसूबों

में कामयाब होते हुए परिवार के बीच निकाह का कार्यक्रम भी आयोजित कर लिया।
निकाह के दौरान आरोपी के पिता रहीस शाह सरपरस्त बने तो भाई अब्दुल वकील बन गया।

वहीं मासूम के निकाह को कबूलनामे में बदलने वाले इमाम हाफिज

जाहिद, आशिक अली और अफसर अली ने मिलकर बच्ची का निकाह पढ़वा दिया।
सब कुछ इतना जल्दबाजी में हुआ की मासूम इसे गुड्डी-गुड़ियों का खेल समझती रही। निकाह को जायज दिखाने के लिए आरोपियों ने मासूम की उम्र छिपाते हुए

12 की जगह 18 साल बताई।
निकाह होने के बाद आरोपी रज्जाक ने मासूम के सपनों को दफन कर दिया।

दो महीने तक मौसा के घर में कैद रही मासूम के साथ क्या हैवानियत हुई होगी, उसे

शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता।
वहीं, जब कई दिनों तक बच्ची घर नहीं लौटी तो मासूम की नानी ने इसकी खबर बच्ची की मां को दी। जिसके बाद राजस्थान से गुना पहुंची बच्ची की मां ने

मामले की शिकायत कैंट पुलिस से की।
शिकायत के बाद हरकत में आई पुलिस ने आरोपी रज्जाक के घर छापामार कार्रवाई करते हुए पीड़ित नाबालिग को बरामद किया।

अपनी मां से मिलने के बाद गले

लिपटकर रोटी हुई पीड़िता ने अपनी दुःख भरी दास्तां मां को सुनाई।
पुलिस ने पीड़िता के बयान के आधार पर आरोपी के खिलाफ 34 पॉस्को एक्ट समेत विवाह प्रतिषेध अधिनियम की धारा 10, धारा 363, 366, 376, 342 के

तहत मामला दर्ज करते हुए जेल भेज दिया गया है। पुलिस ने उसके साथियों को निकाह पढ़ाने वाले इमाम को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।

Share This Post