सुदर्शन न्यूज की खबर का बड़ा असर. बुलंदशहर इज़्तिमा के आयोजकों को UP सरकार का नोटिस जारी.. तमाम विरोधों के बाद भी अटल रहा था सुदर्शन न्यूज अपनी खबर पर

बुलंदशहर में हुए इस्लामिक मजहबी कार्यक्रम तब्लीगी इज्तिमा को लेकर सुदर्शन ने सवाल उठाया था कि आखिर इतने बड़े आयोजन की अनुमति कैसे दी गई जिसके कारण पूरा बुलंदशहर जाम हो गया. सुदर्शन का सवाल था कि तब्लीगी इज्तिमा वास्तव में मजहबी आयोजन है या फिर इसके बहाने शक्ति प्रदर्शन किया जा रहा है ? सुदर्शन ने इन सवालों को अब बल मिलता हुआ दिखाई दे रहा है क्योंकि उत्तर प्रदेश प्रशासन ने बुलंदशहर में आयोजित इज्तेमा के आयोजको को नोटिस जारी किया है.

सूत्रों के हवाले से मिली खबर के मुताबिक़, UP प्रशासन द्वारा आयोजकों को तब्लीगी इज्तिमा में ज्यादा संख्या में लोगो के पहुँचने को लेकर जारी किया गया है. बुलंदशहर के जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने बताया कि आयोजकों ने बुलंदशहर में आयोजित इज्तिमामें 2 लाख लोगों के आने के लिए अनुमति मांगी गई थी जबकि इज्तिमा में इससे कई गुना अधिक भीड़ आई. इसे लेकर जिलाधिकारी द्वारा आयोजकों को नोटिस दिया गया है।

बता दें कि तब्लीगी इज्तिमा को लेकर दावा किया गया कि इस इज्तिमा में 50 लाख से अधिक लोगों ने हिस्सा लिया. ज्ञात हो कि इज्तिमा के आखिरी दिन बुलंदशहर के स्याना में गोकशी के बाद भारी बवाल हुआ था जिसमें गोभक्त सुमित तथा इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की मौत हो गई थी. इस दौरान भी सुदर्शन ने अपने सवाल खड़े किये थे तथा तमाम विरोधों के बाद भी सुदर्शन अपनी बात पर अडिग रहा था. भाजपा सांसद भोला सिंह ने भी सुदर्शन का समर्थन करते हुए सवाल किया था आखिर बुलंदशहर में इतने बड़े आयोजन की अनुमति कैसे मिली और अगर मिली भी तो एक स्थान विशेष की मिली होगी तब आखिर पूरे शहर को क्यों जाम किया गया?

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW