UP पुलिस की छवि को तार तार कर गया सिपाही यूसुफ़.. थाने में जो कुछ हुआ वो गरिमा गिराया वर्दी की

आम जनता से लेकर किसी को भी अगर कोई परेशानी होती है, कोई किसी को सताता है तो वह पुलिस की ओर उम्मीद की नजरों से देखता है कि पुलिस न सिर्फ उनकी रक्षा करेगी बल्कि उसको न्याय भी दिलायेगी. जब एक युवा पुलिस की वर्दी पहनता है तो उसको भी ईमानदारी तथा नैतिक मूल्यों के साथ समाज की रक्षा करने की शपथ दिलाई जाती है. लेकिन जरा सोचिये कि जब समाज की रक्षक पुलिस ही भक्षक बन जाए तब क्या पुलिस का सम्मान, गौरव, पुलिस के प्रति समाज की निष्ठा तथा विश्वास बरकरार रह पायेगा?

एक जिला जहाँ इस्तीफा दे दिया जिलाध्यक्ष सहित कई कांग्रेसियों ने.. वजह बताई प्रियंका गांधी का ये व्यवहार

पुलिस को लेकर वैसे भी अक्सर लोग नकारत्मक चर्चा करते हुए ही नजर आते हैं.. ये अलग बात है कि पुलिस के ज्यादातर जवान पूरी ईमानदारी तथा मनोयोग से जनता के सच्चे सेवक बनकर कार्य करते हैं तथा खाकी वर्दी की शान बढ़ाते हैं लेकिन तभी सामने आता है कोई यूसुफ़ .. वो यूसुफ़ जो पुलिस की वर्दी पहिनकर ऐसे कुकृत्यों को अंजाम देता है, जो पूरे पुलिस प्रशासन की ईमानदार छवि को तार-तार कर देता है, अपने कुकृत्यों से वर्दी की गरिमा को कुचल देता है.

मुसलमानो के खिलाफ ऐसा क्या कह दिया गिरिराज सिंह ने कि भड़क गए मौलाना..

मामला उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले का है जहाँ के डीएम ऑफिस के बाहर उस समय अफरा-तफरी का माहौल बन गया जब एक महिला केरोसिन तेल का गेलन लेकर पहुँच गयी और आत्मदाह का प्रयास करने लगी. डीएम ऑफिस में पहले से तैनात महिला पुलिस कर्मियों ने किसी तरह महिला से केरोसिन तेल का गेलन महिला से छीनकर मामले को शांत कराया और महिला को अपने साथ कोतवाली ले गयी तथा उससे पूंछताछ की.

रोहिंग्या और बंगलादेशी बसाने की हो रही पैरवी, लेकिन जब समीउद्दीन की दुकान के आगे मुरारी ने 5 मिनट बाइक खड़ी की तो ये हुआ हाल

इसके बाद महिला ने आत्मदाह का जो कारण बताया, उसे सुन न सिर्फ उससे पूंछताछ कर रही महिला पुलिसकर्मी दंग रह गई बल्कि खाकी वर्दी की ईमानदारी पर ही सवाल खड़े ही गये. आत्मदाह का प्रयास करने वाली महिला ने बताया कि जिले में ही तैनात यूसुफ़ नाम के सिपाही ने उससे दोस्ती की, शादी के प्रपोज किया तथा फिर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाये. पीड़िता ने बताया कि शादी का झांसा देकर यूसुफ़ लंबे समय उसके जिस्म से खेलता रहा, फिर शादी करने से इंकार कर दिया.

UP पुलिस को मिली चुनौती- “रमजान में नहीं गिरफ्तारी नही होगी”.. गैंग्स्टर युसूफ को छुड़ाया, पुलिस की जीप पलटी

पीड़िता ने बताया कि उसने एसपी से भी इस घटना की शिकायत की थी लेकिन सुनवाई नहीं हुई, इसके बाद उसने आत्मदाह का मना बनाया. वर्तमान समय में पुलिसकर्मी यूसुफ़ कानपुर जिले के जीआरपी थाने में पोस्टेड है. इस मामले में डिप्टी एसपी कपिलदेव मिश्रा ने बताया की एक महिला आत्मदाह करने के लिए आयी थी जिसने कानपुर जीआरपी में तैनात एक सिपाही पर रेप का आरोप लगाया है. इस मामले में जांच की जा रही है और जांच के बाद दोषी पुलिसकर्मी पर कार्यवाही की जायेगी.

एक और देश के चर्च में नरसंहार.. 6 ईसाई मरे, पादरी का भी कत्ल.. सुरेश चव्हाणके जी ने पहले बताया था- “शुरू हो चुका है धर्मयुद्ध”

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post