जौनपुर के जांबाज एसपी श्री अनिल कुमार की सक्रियता ने धर्मान्तरण की मशीनों के पांव उखाड़े… पादरी पहुंचा सलाखों में

ईसाई मिशनरियों द्वारा उत्तर प्रदेश के जौनपुर के एक पूरे के पूरे गाँव का धर्मान्तरण का मामला सामने आने के बाद हडकंप मच गया था . पुलिस प्रशासन से लेकर शासन तक के हाथ पांव फूल गये. लेकिन धर्मान्तरणकारी शायद भूल गये थे कि यूपी में सत्ता योगी आदित्यनाथ की है. धर्मान्तरण की बात सामने आते ही सत्ता ने पुलिस प्रशासन को कड़ी कार्यवाई के आदेश दिए, जिसके बाद जौनपुर पुलिस  ने धर्मांतरणकारियों पर ताबड़तोड़ अंदाज में कार्यवाई शुरू कर दी है.

खबर के मुताबिक़, बुधवार को पुलिस ने चर्च के संचालक और पादरी समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया. कोर्ट के आदेश के बाद मामला दर्ज होने पर मामले की जांच खुद एसपी सिटी जौनपुर अनिल कुमार पांडेय कर रहे हैं तथा अनिल कुमार पाण्डेय की सक्रियता ने धर्मान्तरण की मशीनों के पांव उखाड़ दिए हैं. इस मामले में पुलिस अभी तक गांव के सैकड़ों लोगों का बयान दर्ज कर चुकी है. आपको बता दें कि चंदवक के भूलनडीह स्थित ईसाई केंद्र पर पुलिस कार्यवाई के बाद सन्नाटा पसरा हुआ है. संचालक दुर्गा प्रसाद यादव के घर पर ताला लटका हुआ है. हालांकि, पूरे मामले में पुलिस अभी तक चुप्पी साधे हुए है. कोई भी अधिकारी कैमरे पर कुछ नहीं बोलना चाहता.

बीजेपी जिलाध्यक्ष सुशील कुमार उपाध्याय ने बताया कि पुलिस अपनी कार्यवाई कर रही है तथा इस मामले में पादरी व् ईसाई धर्मान्तरण केंद्र के संचालक स्समेत कुल 4 लोगों की गिरफ्तारी हुई है. सुशील कुमार उपाध्याय ने बताया कि कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार में धर्म पर आघात बिल्कुल भी सहन नहीं किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि हम भारतीय संस्कृति, सभ्यता आदि पार हमला करने वालों को बख्सेंगे नहीं तथा उनके खिलाफ लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि चाहे जौनपुर हो या देस्श की कोई और जगह..धर्मान्तरण की दुकानें बिलकू; भेई नहीं चलने दी जायेंगी.

Share This Post

Leave a Reply