“मेरे साथ सो कर तुम सिर्फ बेटियां पैदा कर रही हो, अब कुछ दिन में नहीं कोई और सोयेगा तुम्हारे साथ”.. कह कर शब्बीर ने सौंप दिया उसे रिश्तेदारों को

उस महिला का कोई दोष नहीं था. बड़े धूमधाम के साथ उसका निकाह हुआ था. निकाह के बाद एक एक करके उसके दो बेटियां हुईं. मां बनने के बाद वह बहुत खुश थी लेकिन शायद बेटी का पैदा होना उसके शौहर शब्बीर तथा उसके परिजनों को रास न आया. तीसरी बार वह गर्भवती हुई तो उसका अबॉर्शन करवा दिया गया. उसके बाद जो हुआ वो मानवता को शर्मशार करने वाला था. उसके शौहर ने उससे कहा कि मेरे साथ सोकर तुम सिर्फ बेटी पैदा कर सकी हो इसलिए अब तुमको मेरे साथ नहीं बल्कि मेरे बड़े भाई तथा बहनोई के साथ सोना पड़ेगा. इसके बाद महिला के जेठ तथा ननदोई ने विवाहिता के साथ दुष्कर्म किया.

बेटी पैदा होने की इतनी बड़ी सजा मिली कि जिन्हें वह रक्षक समझती थी वही उसकी इज्जत के भक्षक बन गये. मामला उत्तर प्रदेश के आगरा के लोहामंडी क्षेत्र का है. खबर के मुताबिक, आगरा के थाना लोहामंडी में गुरुवार को एक युवती ने शिकायत दर्ज कराई. पीड़ित ने बताया कि उसका निकाह 2013 में हुआ था. निकाह के बाद से उसके बाद पति ने मारपीट शुरू कर दी. जब गर्भवती हुई तो उसका गर्भपात करा दिया गया. बेटी होने की आशंका पर उसका तीन बार गर्भपात कराया गया. पीडिता ने बताया है किउसके दो बेटियां हुई. लेकिन, जब बेटियां पैदा हुईं तो ससुरालीजन उसका उत्पीड़न करने लगे। उसे यातनाएं दी जाने लगीं तथा रिश्तेदार लोग उस पर अवैध संबंधों का दवाब बनाने लगे.

पीड़िता ने बता है कि जनवरी 2018 में जब वो घर पर अकेली थी, उसी दौरान जेठ कमरे में आया और उसने उसके साथ दुष्कर्म किया. उसके साथ नंदोई ने भी बलात्कार किया. जब इसकी शिकायत पति से की तो पति ने उसकी पिटाई लगा दी। पति ने उसे पीटने के बाद सादा कागज पर हस्ताक्षर करा लिए. ससुरालीजनों ने उसके साथ आए दिन मारपीट करना शुरू कर दिया। इसकी शिकायत उसने अपने परिवारवालों से की तो उन्हें भी पीटा गया. पीड़िता ने थाना लोहामंडी में तहरीर दी है. पुलिस ने पीड़िता की तहरीर के आधार पर पति और अन्य के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है वहीं आरोपी घर से फरार हैं.

Share This Post