अगर सीरिया में रूस ने नहीं रोकी बमबारी तो पूरे भारत में आन्दोलन की चुनौती….भारत देख रहा राष्ट्रवाद का अलग ही रूप

आजकल देश में राष्ट्रवाद, मानवता का एक नया स्वरूप निकला हुआ है. पूरे देश में कहीं कोई घटना हो तो हमारे देश के कुछ ठेकेदार उसके देश में आन्दोलन करने के लिए तैयार बैठे रहते हैं तथा केंद्र सरकार को दोषी ठहराने लगते हैं. लेकिन ये सब सिर्फ सम्प्रदाय विशेष के लिए ही होता है. जब पाकिस्तान हिन्दुओं की हत्या होती है तो इन लोगों का कहीं पता तक न होता हैं, जब बंगलादेश में हिन्दुओं की हत्या की जाती है, मन्दिर तोड़े जाते हैं तब ये लोग जुबान नहीं खोलते हैं लेकिन सीरिया में वहां की सेना रूस के साथ मिलकर जब विद्रोहियों को मारती है तब ये लोग भारत की सरकार को निशाने पर लेते हैं तथा देश में आन्दोलन की धमकी देते हैं देश रोकने की धमकी देते हैं. आखिर ये कौन सी मानवता व राष्ट्रवाद है.

विदित हो कि सीरिया में इस समय वहां की सेना तथा सेना विद्रोही आतंकवादी गुटों के बीच संघर्ष चल रहा है. इस संघर्ष में रूस, यूएसऐ तथा कई अन्य देश भी सीरिया की सेना के साथ इन विद्रिहियों के खिलाफ जंग छेड़े हुए हैं. लेकिन इसमें रूस सबसे मुखर है. वैसे भी दुनिया में इस्लामिक आतंकवाद के बाद जंग में किसी देश का नाम सबसे पहले लिया जाएगा तो रूस ही होगा. रूस सीरिया के सेना के साथ लगातार इन विद्रोहीन संगठनों के ठिकानों पर हमला कर रहा है. सीरिया की सेना जहाँ तथा सरकार जहाँ रूस का समर्थन कर रही है वहीं हिंदुस्तान में रूस के खिलाफ तथाकथित ढोंगी लोगों का करोष भडक उठा है.

AMU की स्टूडेंट युनियन ने शुक्रवार को कैम्पस में रूस तथा सीरिया के खिलाफ मार्च निकाला. छात्रसंघ अध्यक्ष मशकूर अहमद उस्मानी, उपाध्यक्ष सज्जाद, सचिव मोहम्मद फहद के नेतृत्व में बड़ी संख्या में छात्रों ने रूस तथा सीरिया के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रोटेस्ट मार्च किया. मशकूर अहमद उस्मानी ने कहा सीरिया में रूस की बमबारी पर भारत सरकार कोई कार्यवाही नहीं कर रही है और अगर सरकार ने इसके खिलाफ जल्द कोई एक्शन न लिया तो हम पूरे देश में आन्दोलन करेंगे देश को बंद कर देंगे.

अब देश विचार करे कि क्या ऐसे लोगों के खिलाफ कार्यवाही नहीं होनी चाहिए जो दूर देश हो रहे किसी घटना के खिलाफ अपने देश को बंद करने की आन्दोलन करने की धमकी देते हैं? तथा क्या ये लोग AMU तथा देश की सुरक्षा आदि के लिए घातक नहीं हैं.

Share This Post

Leave a Reply