फिर गरजी शामली पुलिस की बन्दूकें और ढेर हो गया 50 हजार का कुख्यात अपराधी अक़बर.. सैल्यूट कीजिये शामली के जांबाज़ों को

उत्तर प्रदेश की पुलिस को उसके रौद्र रूप के लिए निश्चित रूप से सैल्यूट बनता है .. अपराधियो के लिए कहर बनी पुलिस के शौर्य के आगे अपराधियो ने घुटने टेकने शुरू कर दिए हैं और जो नही टेक रहा वो अपने अंजाम तक जा रहा है ..एक बार फिर से पुलिस की वीरता का गवाह व प्रमाण बना है शामली जिला …शामली  जिले के झिझना में रात करीब आठ बजे ऊन मार्ग पर काली मंदिर के समीप रंगदारी वसूलने आए बदमाशों को पुलिस ने घेर लिया। मुठभेड़ में कुख्यात साबिर का साथी पचास हजार का इनामी अकबर ढेर हो गया जबकि उसका एक साथी भाग निकला। मारा गया अपराधी पूर्व प्रधान एवं जिला पंचायत सदस्य के भाई  से एक करोड़ की रंगदारी मांग रहे थे। इस बेहद साहसिक मुठभेड़ के दौरान बदमाशों की गोली से एक दरोगा और सिपाही भी घायल हो गए जिनकी हालत सामान्य बताई जा रही है । पुलिस ने घटनास्थल से तमंचा-पिस्टल, करीब दो लाख रुपये और एक बिना नबंर की बाइक बरामद की है।

एसपी डा. अजयपाल शर्मा ने बताया कि अकबर कुख्यात साबिर से मुठभेड़ के दौरान फरार हो गया था।  गुरुवार की देर शाम पुलिस को सूचना मिली कि बदमाश गुज्जपुर के पूर्व प्रधान अफसर से रंगदारी वसूलने के लिए झिंझाना में ऊन रोड पर स्थित काली के मंदिर के पास आ रहे हैं। इस पर थानापुलिस और एसओजी ने आनन फानन में बदमाशों की घेराबंदी के लिए जाल बिछाया। बताया जा रहा है कि रात करीब पौने आठ बजे काली मंदिर के पास दो बदमाशों ने पुलिस को देखते ही गोलियां चला दी। इस पर पुलिस ने जवाबी फायरिंग की। दोंनों और से कई राउंड फायरिंग हुई। पुलिस की गोलियां लगने से एक बदमाश गिर गया, जबकि उसका साथी फरार हो गया। जबकि बदमाशों की गोली से दरोगा प्रवेज एवं एसओजी का सिपाही राजू त्यागी भी घायल हो गए। बदमाश को लेकर झिंझाना सीएचसी में पहुंची जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
अपराधी की शिनाख्त कांधला क्षेत्र के गढ़ीदौलत निवासी अकबर के रूप में हुई है। पुलिस ने घायल दरोगा प्रवेज राजू त्यागी को शामली अस्पताल में भर्ती कराया है। पुलिस ने बदमाश के कब्जे से दो लाख की नगदी और एक तमंचा एक पिस्टल और एक बिना नंबर की बाइक व कारतूस बरामद किए हैं। थानाध्यक्ष संदीप बालियान ने बताया कि बदमाश गुज्जरपुर निवासी पूर्व प्रधान एवं पेट्रोल पंप मालिक अफसर से एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांग रहे थे। शुक्रवार की रात में उक्त बदमाशों ने उनके घर पर पहुंचकर फायरिंग की थी। सूचना मिली थी कि उक्त बदमाशों को रंगदारी देने के लिए झिंझाना रोड पर आ रहे थे।
बताया जा रहा है कि पीड़ित की ओर से लगभग दो लाख रुपये बदमाशों को दिए गए थे जो घटना स्थल से बरामद हुए हैं। एसपी डा. अजयपाल शर्मा ने भी झिंझाना के अस्पताल में पहुंचे और जानकारी ली। एसओ प्रदीप बालियान ने बताया कि अकबर पर पचास हजार का ईनाम घोषित है। गत दो जनवरी को कैराना के जंधेड़ी में कुख्यात साबिर से हुई मुठभेड में भी वह शामिल था। इस मुठभेड में साबिर मारा गया था जबकि अकबर एवं अन्य साथी फरार हो गए थे। इस मुठभेड में पुलिस का जाबांज सिपाही अंकित तोमर भी वीरगति को प्राप्त हो गया
Share This Post