भगवान से प्रार्थना कीजिए अस्पताल में भर्ती 3 साल की उस देवी स्वरूपा मासूम के लिए जिसका बेरहमी से बलात्कार कर के फरार है ज़ब्बार


क्या हो गया है एक ही प्रकार की सोच और मानसिकता को रखने वालों को ? हर दिन कहीं न कहीं कोई न कोई आक्रान्ता ऐसा निकल कर सामने आ रहा है जो सीधे ललकार रहा है केंद्र सरकार के बलात्कारियो को दंड देने के कानून पोस्को के आगे . क्या ये सीधे सीधे चुनौती है सत्ता को या कोई ऐसी विकृत और घिनौनी मानसिकता जिस से वो बाहर नहीं आ पा रहे हैं और अब सीधे सीधे हमलावर हो रहे हैं मासूमो पर जो ठीक से अपना नाम भी नहीं बता पाती हैं . कुछ दिन पहले चंदौली में मासूम के साथ कुकर्म , फिर मंदसौर में वही हरकत , फिर मुजफ्फरनगर में एक कुकर्म और अब फर्रुखाबाद में एक और नीचता .. 

ज्ञात हो कि एक ही सोच और एक ही प्रकार की मानसिकता रखने वालों की अचानक ही बाढ़ जैसी आ गयी है . उनके निशाने पर वो मासूम हैं जिन्हें हिन्दू समाज देवी के रूप में नवरात्रों में पूजा करता है . लेकिन उन तमाम सिद्धांतो के साथ नए कानून पोस्को को सीधे सीधे चुनौती मिल रही है आक्रंताओ द्वारा ..हर किसी का दिल दहला देने वाला अब नया मामला उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद जिले का है जहां एक हवसी दरिन्दे का शिकार बनी है एक 3 वर्षीय मासूम .. इस देवी स्वरूपा मासूम को उनके पड़ोस में रहने वाला 30 वर्षीय दरिंदा टॉफी दिलाने के बहाने ले गया, टॉफियां दिलाने के बाद उसके साथ उसने दुष्कर्म किया।

जानकारी के अनुसार, मामला शमशाबाद थानाक्षेत्र का है। जहां रहने वाली तीन वर्षीय मासूम अपनी चचेरी बहन के साथ अपने घर के बाहर खेल रही थी तभी पड़ोस में रहने वाला जब्बार टॉफी दिलाने के बहाने उसे गोद में उठाकर सुनसान जगह पर ले गया। वहां उसने बालिका से दुष्कर्म किया। वहीं बच्ची के शोर मचाने पर युवक उसे छोड़कर भाग गया।  काफी देर तक बच्ची के न लौटने पर उसकी बहन ने चारो तरफ खोजबीन की। न मिलने पर उसने घर जाकर परिजनों को पूरी घटना की जानकारी दी। पीड़िता के गायब होने की खबर सुनकर परिजन उसे ढूढने लगे। तलाश करते हुए परिजनों को मासूम गली में रोते हुए मिली।
 

जिसके बाद बच्ची की बेसुध हालत देखकर उसकी मां की हालत बिगड़ गई। जिसके चलते मां को अस्पताल भर्ती कराना पड़ा। जहां पर उपचार करने के बाद उन्हें घर भेज दिया गया है। पीड़िता के पिता ने पुलिस थाने में आरोपी के खिलाफ तहरीर दी है। पुलिस ने आरोपी पर पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर बच्ची को चिकित्सकीय परीक्षण के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा। जहाँ पर डॉक्टरों द्वारा तीन घण्टे परीक्षण किया गया।   पुलिस ने जब्बार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है। एसओ इस घटना की जानकारी देते हुए बताया कि मुकदमा दर्ज कर बच्ची का मेडिकल परीक्षण कराया गया है। आरोपी की तलाश में छापेमारी की जा रही है।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share