Breaking News:

नाम है राहत, लेकिन करता था कत्ल ..चन्दन का एक और हत्यारा पुलिस के शिकंजे में

कासगंज को हिंसा की आगे में झोंकने वालों का हिसाब पुलिस ने अपने अंदाज में शुरू कर दिया है और हत्यारों को साफ सन्देश दिया है कि उन्हें किसी भी हालत में छोड़ा नहीं जाएगा . प्रदेश पुलिस ने कासगंज सांप्रदायिक हिंसा में शामिल एक अन्य आरोपी राहत कुरैशी को गिरफ्तार कर लिया है। कुरैशी कासगंज के इस्माइलपुर रोड का रहने वाला है।

नवागत पुलिस कप्तान पीयूष श्रीवास्तव के आने के बाद अचानक ही अपराधियों की शामत आ गयी ..इसके पहले पुलिस ने बुधवार को इस हिंसा में मारे गए 22 वर्षीय चंदन गुप्ता की हत्या के मुख्य आरोपी सलीम की गिरफ्तारी की थी। पुलिस ने कासगंज से ही उसको गिरफ्तार किया था। सलीम पर आरोप है कि उसने गणतंत्र दिवस के दिन छत से चंदन को गोली मारी थी। पुलिस ने चार दिनों की तलाशी के बाद सलीम को गिरफ्तार किया था।

दरअसल, 26 जनवरी के दिन कासगंज में हुई सांप्रदायिक हिंसा में चंदन गुप्ता नाम के युवक की मौत हो गई थी। वहीं अकरम नाम के युवक की एक आंख फोड़ दी गई थी। चंदन की हत्या के मामले में सलीम को मुख्य आरोपी बनाया गया था। कासगंज के डीएम आरपी सिंह ने खुलासा किया था कि चंदन के ऊपर छत से गोली चलाई गई थी। सलीम को खोजते हुए यूपी पुलिस उसके घर भी गई थी, जहां ताला लगा हुआ था। उसे तोड़कर सलीम के घर की तलाशी ली गई थी।

Share This Post