तुम्हें नहीं पता है कि डीजे हमारे यहां हराम है, इतना कहा और टूट पड़े उस बरात पर जहाँ खुशी में बज रहा था संगीत.. घटना योगीराज की.

उन्मादी मजहबी आक्रांताओं ने एक बार फिर से मुजफ्फरनगर को दहलाने का प्रयास किया. वही मुजफ्फरनगर जहाँ 2012 में हिन्दू मुस्लिम दंगे हुए थे तथा मजहबी उन्मादियों ने जमकर उत्पात मचाया था, जिसमें कई लोगों की जानें गई तथा कई दिनों तक शहर सुलगा था. ठीक उसी अंदाज में एक बार से मुजफ्फरनगर को जलाने की कोशिश की गई, बस इस बार बहाना बारात में डीजे न बजाने को लेकर था. हिन्दू समुदाय की एक बारात में बज रहे डीजे को हराम बताकर उन्मादी भीड़ बारात पर लाठी डंडे लेकर टूट पडी. भला हो मुजफ्फरनगर पुलिस का, जिसने समय पर पहुंचकर उन्मादियों को काबू किया तथा मुजफ्फरनगर को सुलगने से बचा लिया. 

खबर के मुताबिक, पश्चिमी उत्तरा प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र के गांव चन्धेडी निवासी रामकुमार के यहां शादी थी. बताया गया है कि रामकुमार जी के यहां रात्रि को डीजे बज रहा था तथा काफी सारे लोग डीजे पर डांस आदि कर रहे थे. तभी पड़ोस के नाहिद तथा जहीर आ धमके व तत्काल डीजे बंद करने के लिए हंगामा करने लगे. रामकुमार ने उन्हें हंगामा न करने को कहा तथा बोले कि जल्दी बंद करने वाले हैं. लेकिन नाहिद तथा जहीर तुरंत बंद करने पर अड़ गए तथा ऐसा न करने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी तथा चले गए. बताया गया है कि इसके थोड़ी देर बाद नाहिद तथा जहीर के साथ एक उन्मादी भीड़ भारी संख्या में लाठी डंडों के साथ आ धमके तथा आते ही डीजे पर थिरक रहे लोगों पर भीषण हमला बोल दिया. देखते ही देखते उन्मादियों की तरफ  से कश्मीरी अंदाज में भयंकर पत्थरबाजी शुरू हो गईं जिसमे कई लोग घायल हो गए.

इसी बीच किसी ने पुलिस को घटना की सूचना दी. घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची तथा जैसे तैसे उन्मादियों को खदेड़ा व हालातों पर काबू पाया तथा घायलों को चिकित्सालय में भर्ती कराया. इस घटना में पुलिस ने दोनों पक्षों की तरफ से जानलेवा हमले कि रिपोर्ट दर्ज की है.  पुलिस ने इस घटना के दोनो पक्षों के 16 ग्रामीणों को शुक्रवार को गिरफ्तार किया. पूछताछ के बाद पुलिस ने सभी का चालान कर दिया. प्रशासन ने एहतियात के तौर पर चंधेड़ी गांव में शुक्रवार को पुलिस बल तैनात कर दिया है. इस घटना को लेकर दोनो पक्षों के ग्रामीण आपसी समझौता करवाने के प्रयास में लगे हैं. पुलिस ने कहा कि किसी को माहौल खराब करने की छूट नहीं दी जा सकती.

Share This Post