ध्वस्त हुए दलित-मुस्लिम एकता के तमाम समीकरण… आजमगढ़ में दलित बस्ती पर भीषण हमला


2014 से देश में हुई हिन्दू एकता से घबराए तथाकथित राजनेताओं ने इस एकता को तोड़ने के लिए जातिगत वैमनस्यता का जहर बोना शुरु किया व् दलितों को सवर्णों के खिलाफ भड़काकर दलित-मुस्लिम एकता का नारा बुलंद किया. हिंदुओं में फूट डालने के लिए “जय भीम मीम” के नारे की नई राजनीति शुरु की व् दलोतों से कहा जाने लगा कि हिन्दू समाज में दलितों की कोई जगह नहीं है, इसलिए दलित व् मुस्लिमों को एक होकर लड़ना चाहिए. समाज में जितना ज्यादा जातिगत जहर बोया जा सकता था, उतना ज्यादा बोया गया, जितनी ज्यादा नफरत फैलाई जा सकती थी, उतनी ज्यादा फैलाई गयी तथा कहा गया कि अब दलितों को मुस्लिमों का साथ मिल गया है.

लेकिन दलित मुस्लिम एकता के तमाम दावे तथा समीकरण उस समय ध्वस्त हो गये जब उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने भीषणतम अंदाज में हमला कर दिया. बता दें कि इस घटना से पहले सरायमीर के बखरा गांव में बच्चे को लेकर दलितों और मुस्लिम समुदाय के लोगों के बीच विवाद हुआ था. आरोप है कि इसके बाद 31 मई की रात को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने दलित बस्ती पर हमला कर दिया. इन लोगों ने जमकर तोड़पोड़ की, और वहां मौजूद लोगों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा. दलितों पर मुस्लिमों के इस हमले में 10 लोग गंभीर रूप से घायल हो गये हैं. बताया गया है कि इस आक्रान्ताई घटना के बाद गांव में तनाव का माहौल है। यहां पर कई थानों की फोर्स को लगा दिया दिया है। घटना के बाद एसपी ग्रामीण, सीओ फूलपुर देर रात तक मौके पर मौजूद रहे.

घटना में घायलों को खरेवां हेल्थ सेंटर पर भर्ती कराया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक मारपीट की वजह से सनोज, अच्छेलाल, रामअचल, अमन सनी, विशाल समेत 10 लोग घायल हुए है। इन लोगों ने सबसे पहले डायल 100 पर वाकये की सूचना पुलिस को दी। इसके बाद सरायमीर, दीदारगंज और फूलपुर थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए कोशिश कर रही है। हमलावर घटना को अंजाम देने के बाद फरार है. सरायमीर के बखरा गांव में गुरुवार रात आठ बजे को एक मुस्लिम युवका दलित बस्ती निवासी अमन रामअचल राम से विवाद हो गया था। अमन 10 साल का है। इसके बाद अमन घर चला गया। रिपोर्ट के मुताबिक दोनों पक्षों के बीच गोकशी को लेकर विवाद हुआ था। आरोप है कि थोड़ी देर बाद मुस्लिम समुदाय के लोगों ने दलित बस्ती पर लाठी-डंडों से हमला बोल दिया.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share