सैनिकों को ले जा रही ट्रेन की पटरी टूटी मिली… सवाल ये कि टूटी थी या तोडी गयी ?


अगर RPF का जवान संजय प्रसाद सतर्क ना होता तो पता न कितने सैनिकों की जान चली जाती. भारतीय सेना को लेकर जा रही मिलिट्री स्पेशल ट्रेन लखनऊ मंडल में दुर्घटनाग्रास्त होने से  आरपीएफ के जवान संजय प्रसाद की सतर्कता से बच गई. सेना के जवानों और अफसरों को ले जा रही एक मिलिट्री स्पेशल ट्रेन जिस पटरी से गुजर रही थी वह पटरी टूटी हुई थी. जब टूटी पटरी के करीब पहुंच गई तो आरपीएफ के एक जवान की सतर्कता के कारण ट्रेन को आउटर पर रोका गया तथा सैनिकों की जान को बचा लिया गया. लेकिन यहां सवाल इस ये खड़ा हो रहा है की रेलवे ट्रैक टूटा था या फिर एक साजिश के तहत तोड़ा गया था ताकि सेना के जवानों को हताहत किया जा सके. फिलहाल मामले की जांच की जा रही है.

वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त, लखनऊ सत्य प्रकाश ने कहा कि आरपीएफ के कांस्टेबल संजय प्रसाद की तत्परता के कारण मिलिट्री स्पेशल ट्रेन दुर्घटना का शिकार होने से बची थी. ट्रेन टूटी पटरी पर आने से पहले रोक दी गई थी. संजय प्रसाद को उनकी कर्तव्यनिष्ठा और तत्परता के लिए पुरस्कृत किया जाएगा लेकिन इस बात की भी तहकीकात की जा रही है की आखिर पटरी टूटी कैसे, कहीं इसके पीछे कोई साजिश तो नहीं. जानकारी के मुताबिक, सैन्य साजो सामान, जवानों व अफसरों के साथ पंजाब से एक इंफंट्री यूनिट के साथ रवाना हुई की मिलिट्री स्पेशल ट्रेन लखनऊ से होते हुए पं.बंगाल की ओर आ रही थी. लखनऊ मंडल प्रशासन के वाराणसी और काशी स्टेशनों के बीच एक जगह पर पटरी टूटी हुई थी. आरपीएफ के कांस्टेबल संजय प्रसाद पटरी की सीलिंग की जांच कर रहे थे. जैसे ही वह एक प्वाइंट पर गए तो देखा कि वहां एक जगह पटरी टूटी हुई है. इस बीच लखनऊ से मिलिट्री स्पेशल ट्रेन को सीधे निकलना था.
RPF के जवान संजय प्रसाद ने तुरंत स्टेशन मास्टर को इसकी सूचना दी, जिसके बाद ट्रेन को आउटर पर ही रोक दिया गया। ट्रेन के देर तक खड़े होने पर सेना के अधिकारियों को रेलवे ने घटना की पूरी जानकारी दी. सैन्य अधिकारियों ने भी आरपीएफ कांस्टेबल की सतर्कता को सराहा. उन्होंने कहा कि कांस्टेबल की तत्परता से एक बड़ा हादसा टल गया. आरपीएफ के कांस्टेबल संजय प्रसाद की तत्परता के कारण मिलिट्री स्पेशल ट्रेन दुर्घटना का शिकार होने से बची थी. ट्रेन टूटी पटरी पर आने से पहले रोक दी गई थी. संजय प्रसाद को उनकी कर्तव्यनिष्ठा और तत्परता के लिए पुरस्कृत किया जाएगा.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...