क्यों क़त्ल हुआ कांग्रेस की नेता मुन्नी शेख का और कौन है उसका कातिल….जानिए


उत्तर प्रदेश में योगीराज आने के बाद पुलिस अपराधियों के खिलाफ लगातार कड़ी कार्यवाही कर रही है. 11 महीने के अंदर उत्तर प्रदेश में लगभग 1300 एनकाउंटर हो चुके हैं जिसमें 50 के लगभग दुर्दांत अपराधियों को मौत के घाट उतार दिया गया है तथा सैकड़ों अपराधी गिरफ्तार कर जेल भेज दिए गये हैं. इस सबके बीच ऐसे अपराधी मौजूद हैं जो जेल के अंदर से ही आज भी हत्याएं कर रहे हैं तो सोचिये अपनी सरकार में उन्होंने क्या हाल किया होगा?

ताजा घटना उत्तर प्रदेश के बागपत में घटित हुई है जहाँ कांग्रेस नेता मुन्नी शेख की उसके घर में ही घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी गयी. खबर के मुताबिक बागपत कोतवाली क्षेत्र के केतीपुरा मोहल्ला निवासी कांग्रेस नेता मुन्नी बेगम के घर सोमवार सुबह हथियारबंद बदमाश घुस आए तथा  फायरिंग कर हत्या कर दी और वहां से फरार हो गए. सूचना मिलने पर पुलिस के साथ पुलिस अधीक्षक जयप्रकाश सिंह भी मौके पर पहुँच गये व घटना स्थल का निरीक्षण किया तथा शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

मुन्नी शेख कांग्रेसी नेता हैं तथा पिछले चुनाव में पार्टी के टिकट पर पार्षद का चुनाव भी लड़ा था. मृतका के परिजनों ने जेल में बंद दुर्दांत अपराधी जाहिद अहमद पर हत्या का आरोप लगाया है. परिजनों का कहना है कि जाहिद के गुंडों ने मुन्नी की हत्या की है तथा जाहिद पहले भी मुन्ने के खिलाफ षड्यन्त्र रचता रहा है. मुन्नी की शमीना चौधरी ने पुलिस को बताया कि तीन संदिग्ध लोग बाइक पर आए और उन्होंने मुन्नी बेगम के सिर में कई गोलियां मारी.

पुलिस का कहना है कि हत्याकांड की हर एंगल से जांच की जा रही है तथा जाहिद से भी पूंछताछ की जायेगी व् जल्द ही हत्या की गुत्थी सुलझा ली जायेगी. लेकिन सबसे बड़ा सवाल वही है कि एकतरफ अपराधी तख्ती लेकर माफी की गुहार लगा रहे हैं वहीं जाहिद अहमद जेल के अंदर से हत्याएं करवा रहा है तो आप खुद सोच सकते हैं कि अपराधियों को संरक्ष्ण देने वाली सरकार में जाहिद ने क्या आतंक मचाया होगा. जाहिद अहमद पर बागपत, मुजफ्फरनगर, मेरठ, शामली, गाजियाबाद और सहारनपुर में 36 से ज्यादा केस दर्ज हैं. पुलिस हत्यारोपियों की गिरफ्तारी में जुट गयी है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share