एक बार फिर से पुलिस पर भयानक पत्थरबाजी… उत्तर प्रदेश में हुआ ये जब कटती गाय बचाने गये थे पुलिसकर्मी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने बकरीद से पहले सी साफ़ कर दिया था कि बकरीद पर गोवंश की कुर्बानी न दी जाए और अगर कोई ऐसा करते पकड़ा जाता है तो उसके साथ सख्ती से निपटाया जाएगा.  उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के इस फैसले का असर भी दिखा लेकिन कुछ उन्मादी लोगों को ये रास नहीं आया तथा उन्होंने इसके खिलाफ जाने की कोशिश की लेकिन शासन-प्रशासन की सख्ती के कारण वह कामयाब नहीं हो सके.

लेकिन उन्मादी यहाँ तक रुकने वाले नहीं थे. कुछ मजहबी उन्मादियों ने बकरीद के दो दिन बाद उत्तर प्रदेश के रामपुर में गोवंश काटने की कोशिश की तथा पुलिस द्वारा रोकने पर पुलिस पर कश्मीरी अंदाज में भयंकर पत्थरबाजी की गयी, भीषण हमला किया गया. खबर के मुताबिक़, उत्तर प्रदेश के रामपुर जनपद के स्वार थाना अजीमनगर के गांव नागलिया अकील में पुलिस ने बकरीद के तीसरे दिन आज प्रतिबंधित पशु(गोवंश) की कुर्बानी करते तीन लोगों को पकड़ लिया. इन तीनों को हिरासत में थाना ले जा रहे पुलिस बल पर लोगों ने पथराव शुरू कर दिया. उन्मादियों की भीड़ इतनी ज्यादा थी कि पुलिस को निकलना मुश्किल हो गया. पुलिस पर किये गये इस पथराव में पथराव में दारोगा श्याम सुंदर व सिपाही जोगिंदर घायल हो गए. लगातार जारी भारी पथराव के बीच वहां पर पुलिस कर्मियों ने भाग कर किसी तरह अपनी जान बचाई. पुलिस पर पथराव की सूचना पर पीएसी के साथ पहुंची पुलिस ने इसके बाद ग्रामीणों को दौड़ा लिया. पुलिस ने पथराव में वांछित कई लोगों को हिरासत में लिया है. किसी भी बवाल की आशंका में गाँव में पीएसी को तनात किया गया था.

Share This Post