पुलिस पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा कर योगी की सत्ता को सीधी चुनौती दी है गौ तस्करों ने… मॉब लिंचिंग की साजिश कामयाबी की तरफ.

तथाकथित सेक्यूलर नेताओं तथा तमाम बुद्धिजीवियों द्वारा मॉब लिंचिंग की आड़ में गौरक्षकों को निशाना बनाना तथा गौतस्करों की तरफदारी करना अब न सिर्फ हिन्दू समाज बल्कि कानून की रक्षक पुलिस के जवानों के लिए भी नासूर बनता जा रहा है. तमाम लोगों के अप्रत्यक्ष समर्थन से गौतस्करों के हौसले बुलंद हैं तथा पुलिस बेबस नजर आ रही है. इसका नजारा उत्तर प्रदेश के बागपत में देखने को मिला जब बाछौड़ मार्ग पर गोवंश से लदे कैंटर को रुकवाने का प्रयास कर रही पुलिस पर गो तस्करों ने फायरिंग दी. यूपी 100 गाड़ी में कई गोलियां लगी। तथा पुलिसकर्मी बाल-बाल बचे.

जानकारी के मुताबिक़, पुलिस से पीछा छुड़ाने के लिए तस्करों ने पुलिस की गाड़ी के सामने कैंटर से बछड़ा फेंक दिया. उसे बचाने के चक्कर में गाड़ी पेड़ से टकरा गई. तस्कर पुलिस को चकमा देकर भाग निकले. पुलिस ने गोवंश तस्करों के खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज कराया. बागपत के छपरौली थानाध्यक्ष विजय कुमार सिंह को लखनऊ से सूचना मिली की कि छपरौली क्षेत्र में कैंटर से कुछ लोग गोवंश को लादकर ले जा रहे हैं.  सटीक जानकारी पर पुलिस टीम ने हलालपुर मंदिर के पास कैंटर को घेरने का प्रयास किया, लेकिन चालक ने कैंटर को हलालपुर मंदिर के पास से होते हुए बाछौड़ मार्ग पर दौड़ा दिया. घिरता देख कैंटर में सवार गोवंश तस्करों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी.


फायरिंग के दौरान यूपी 100 गाड़ी 2962 की खिड़की और बोनट पर कई गोलियां लगी. गाड़ी में सवार पुलिस कर्मी बाल-बाल बचे. गोवंश तस्करों ने 12 राउंड के लगभग गोलियां चलाई. पुलिस से घिरता देखकर तस्करों ने कैंटर से बछड़े को पुलिस गाड़ी के सामने फेंक दिया. बछड़े को बचाने के चक्कर में गाड़ी सड़क किनारे खड़े पेड़ से टकरा कर क्षतिग्रस्त हो गई. कैंटर पुलिस पहुंच से दूर निकल गया. गोवंश तस्कर पुलिस को चकमा देकर भागने में सफल रहे. थानाध्यक्ष विजय कुमार सिंह ने बताया कि अज्ञात गोवंश तस्करों के खिलाफ पुलिस पर जानलेवा हमला करने और गोवंश को लादकर ले जाने के मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.  तस्करों को पकड़ने के लिए पुलिस टीम लगाई गई है तथा जल्दी ही उन्हें पकड़ लिया जाएगा.

Share This Post

Leave a Reply