यदि आपने ईद नहीं मनाई तो सुनिए अपने लिए आजम खान का फतवा..

कल 16 जून को मजहबे इस्लाम में ईद का पर्व मनाया गया. चूँकि ईद इस्लाम का पर्व है इसलिए गैर इस्लामिक लोगों के लिए ये वाध्यता नहीं हो सकती है कि इस्लाम को न मानने वाले ईद मनाएं या  न मनाएं. देशभर में करोड़ों की संख्या में ऐसे लोग हैं जिन्होंने ईद नहीं है और ये भी हो सकता है कि इन करोड़ों लोगों में आप भी हों जिन्होंने ईद न मनाई हो. लेकिन अगर आपने ईद नहीं मनाई है तो समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान ने आपके लिए फतवा जारी किया है.

अपने बडबोलेपन तथा बेतुके बयानों के लिए जाने जाने वाले सपा नेता आजम खान ने ईद की नमाज अदा करने के बाद एक ऐसा बयान दिया है, या यूं मानिए कि आपके लिए फतवा जारी किया है जिस पर राजनीति तेज हो गयी है तथा आजम खान को जमकर ट्रोल किया जा रहा है, उनकी आलोचना की जा रही है. अपने गृह जनपद रामपुर में ईद की नमाज अदा करने के बाद मीडिया से बात करते हुए अपा नेता अजम खान ने कहा कि जो देश में ईद नहीं मनाता है, वह इस देश का वफादार हो ही नहीं सकता है. आजम खान यहीं नहीं रुके बल्कि इससे आगे जाते हुए उन्होंने जो कहा वह और भी बेतुका था. आजम खान ने कहा कि ईद न मनाने वाले लोग इन्सान नहीं हो सकते हैं बल्कि ये लोग इंसानियत के नाम पर कलंक हैं, ईद न मनाने वाले इस देश के संविधान के दुश्मन है.

आजम खान के इस बयान के बाद वह सोशल मीडिया पर ट्रोल हो गये तथा उनकीं जमकर आलोचना की जा रही है. आजम खान के बयान से आक्रोशित लोगों का कहना है कि आजम खान का मानसिक संतुलन खराब हो गया है, इसलिए वह ऐसी बयानबाजी कर रहे हैं. निश्चित रूप से ये कोई जरूरी नहीं है कि हर व्यक्ति ईद मनाये. अगर कोई इस्लाम को नहीं मानता है तथा ईद न मनाता है तो आजम खान के इस फतवे के अनुसार वह देश का वफादार नहीं है तथा देश पर कलंक है.

Share This Post

Leave a Reply