गौसेवकों से भिड़ गये गौहत्यारे.. जानिये कौन जीता इस जंग में ?

जिस तरह से मॉब लिंचिंग का सहारा लेकर तमाम राजनैतिक दल तथा तथाकथित बुद्धिजीवी गौहत्यारों का अप्रत्यक्ष समर्थन कर रहे हैं , गौहत्या को बढ़ावा दे रहे हैं, उसके दुष्परिणाम सामने आने लगे हैं. गौहत्यारों के हौसले इस कदर बढ़ गये है कि व अब सीधे सीधे गौरक्षकों को न सिर्फ चुनौती दे रहे हैं बल्कि उन पर हमले कर रहे हैं, उनकी ह्त्या भी कर रहे हैं. इसका ताजा प्रमाण उत्तर प्रदेश के औरैया के बिधूना में देखने को मिला जहाँ गौ हत्यारों के खिलाफ लंबे समय से अभियान चला रहे बाबा भयानक नाथ मंदिर के तीन संतों का गौहत्यारो ने क्रूरतम तालिबानी अंदाज में क़त्ल किया तथा उनका अंग भंग कर दिया. गोमांस के गौरक्षकों के खून के प्यासे बने गौहत्यारों ने साधुओं की ह्त्या कर उनकी जीभ काट डाली.

इसी बीच गौहत्यारों के आतंक का एक औ मामला उत्तर प्रदेश के ही शामली से सामने आया है. खबर के मुताबिक़, जनपद शामली के थाना अदर्शमण्डी क्षेत्र के गुरुद्वारा फाटक  पर गोरक्षा सेवा दल के कार्यकताओं ने गाड़ी में गायों को ले जा रहे दो गौहत्यारों को रोका तो गौहत्यारों ने गोरक्षकों पर गाढ़ी चढाने का प्रयास किया. इसमें कामयाब न हुए तो गौरक्षक कार्यकर्ताओं पर हमला बोल दिया तथा मारपीट शुरू कर दी. गोरक्षा दल के कार्यकर्ताओं का आरोप है कि दोनों युवक गायों को चोरी करकर ले जा रहे थे और जब उन्होंने रोकने की कोशिश की तो उनपर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया फिर गाड़ी लेकर मौके से भाग निकले. इसके संगठन के सदस्यों ने इनका पीछा करके इन्हें पकड़ लिया तो उलटा हम पर ही हमला कर दिया. इसके बाद मारपीट शुरू हो गयी. सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों गौहत्यारों को हिरासत में ले लिया और थाने ले आई. पुलिस गोरक्षा सेवा दल के कार्यकताओं की तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई में जुट गई है.

Share This Post