मेरठ के कालेज का साहसिक निर्णय.. मुह पर बंधा हुआ होगा कपड़ा तो नहीं मिलेगी कालेज में इंट्री .. निर्णय की हर तरफ प्रशंसा

इस फैसले को अब तक केवल यूरोपीय देश ही लागू कर पाए हैं और अब ये लागू किया है मेरठ के एक कालेज ने जिसकी हर तरफ हो रही है सराहना .. सुरक्षा की दृष्टि से और पढ़ाई का वातावरण बना रहे इसके चलते एक ऐसा निर्णय जिस से उम्मीद है की आने वाले समय में बाकी तमाम स्कूल कालेज भी प्रेरणा लेंगे .. कालेज की स्थाई छात्रों की बेहतर ढंग से पहिचान हो सके और बाहरी असामाजिक तत्वों पर रोक लगे जिसके चलते ये निरयण लिया गया है . 

काफी समय से बाहरी ततवो के अवैध रूप से आने जाने और उनके द्वारा ख़राब किये जा रहे पठन पाठन के माहौल पर सख्ती से रोक लगाने के लिए लिया गया है ये फैसला . विदित हो कीमेरठ कॉलेज प्रॉक्टोरियल बोर्ड ने फरमान सुनाया है कि कॉलेज में आने वाली लड़की यदि मुंह पर कपड़ा बांधे होगी तो उसे कॉलेज में एंट्री नहीं मिलेगी।

प्रॉक्टोरियल बोर्ड के इस फैसले के बाद कॉलेज में अब लड़कियां मुंह पर कपड़ा बांधकर नहीं आ सकेंगी। प्रॉक्टोरियल बोर्ड की बैठक में यह निर्णय लिया गया है।

बता दें शनिवार को कॉलेज में चेकिंग के दौरान बाहरी युवक और युवतियां पकड़े गए थे। कॉलेज प्रशासन को इस बात की लगातार सूचना मिल रही थी कि कॉलेज में बाहर के लड़के लड़कियां बड़ी संख्या में आ रही हैं।

बाहरी युवक और युवतियों की कॉलेज में रोकथाम के ​लिए यह कदम उठाया गया है।

बोर्ड ने निर्णय लिया है कि अब बाहरी युवकों की एंट्री रोकने के लिए दिन में दो बार चेकिंग करायी जाएगी। इस दौरान यदि बाहर युवक और युवतियां कॉलेज के अंदर पकड़े गए तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। चीफ प्रोक्टर अलका चौधरी ने बताया कि सभी छात्र-छात्राओं स्पष्ट कर दिया गया है कि वह आईकार्ड लेकर ही कॉलेज आएं, यदि उनके पास आईकार्ड नहीं मिला तो उन्हें कॉलेज में एंट्री नहीं दी जाएगी।

Share This Post