ईद सकुशल निबट गयी.. अब कुम्भ के लिए जारी हुई आतंक की चेतावनी, सेना के हवाले हो सकता है हिंदुओं का सबसे बड़ा मेला

अगले वर्ष संगम नगरी प्रयागराज में लगने वाले हिन्दुओं के सबसे बड़े व पावन मेले महाकुंभ की तैयारियों में उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ जी सरकार जी जान से जुटी हुई है लेकिन अब प्रयागराज में लगने वाले महाकुंभ को लेकर सनसनीखेज खबर सामने आयी है. जानकारी के मुताबिक़, उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद(प्रयाग) में अगले साल मार्च में होने जा रहे अर्धकुंभ मेले में पुलिस के साथ सुरक्षा का जिम्मा सेना उठाएगी. सेना के हवाले कुंभ इसलिए किया जा रहा क्योंकिख़ुफ़िया एजेंसियों ने इस दौरान आतंकी हमले की आशंका जताई है. खुफिया सूत्रों का कहना है अगले साल लगने वाले कुंभ के दौरान आतंकी किसी बड़ी वारदात को दे सकते हैं. यही कारण है कुंभ को लेकर अभी से हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है.

ज्ञात हो कि लाखों श्रद्धालुओं के शिरकत करने के चलते कुंभ मेले की पहचान विश्व में सबसे ज्यादा भीड़ वाले आयोजन के रूप में होती है.इससे पहले सेना की भूमिका महज स्थानीय प्रशासन के साथ इंजीनियरिंग सपोर्ट तक ही सीमित रहती थी, मगर इस बार श्रद्धालुओं की सुरक्षा भी सेना के हवाले होगी. सूत्रों ने बताया कि आतंकी खतरे और कुंभ मेले के आकार को देखते हुए लाखों श्रद्धालुओं की सुरक्षा सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती है. सिर्फ पुलिस के भरोसे इतने बड़े आयोजन को लेकर आश्वस्त नहीं हुआ जा सकता. ऐसे में सेना भी सुरक्षा व्यवस्था को लेकर काम करेगी. बुधवार को रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण और सेना प्रमुख बिपिन रावत ने इसी सिलसिले में इलाहाबाद का दौरा किया, बाद में रक्षामंत्री ने ट्वीट कर कुंभ मेले की सुरक्षात्मक तैयारियों को समीक्षा के बारे में जानकारी भी दी.

जिस तरह से रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन तथा तथा सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत ने प्रयाग का दौरा किया, इससे कुंभ मेले के आयोजन में सेना की बड़ी भूमिका के बारे में अंदाजा लगाया जा सकता है. सूत्रों के मुताबिक़, न सिर्फ योगी सरकार बल्कि केंद्र सरकार भी कुंभ के किसी तरह की अनहोनी न हो, इसे लेकर सतर्क है.इलाहाबाद में प्रमुख मंदिरों को कुंभ मेले के दौरान छावनी में तब्दील कर दिया जाएगा. खासतौर से मेलास्थल पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रहेगी. इसका कारण मेले में अत्यधिक भीड़ होने के कारण आतंकी बड्डे हमले को अंजाम देने की तैयारी कर रहे हैं लेकिन इससे पहले ही हिन्द की सेना के जवान आतंकियों के नापाक मंसूबों को कुचलने को मुस्तैद हैं.

Share This Post

Leave a Reply