मासूमों के हत्यारे कफील ने आखिरकार वो नाम ले ही लिया जिसको वो मानते हैं अपने भाई का गुनाहगार.. नाम लेते ही फ़ैली सनसनी

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में मासूम बच्चों के हत्यारे डॉ. कफील ने अपने भाई पर हमले के आरोप में जिस व्यक्ति को जिम्मेदार ठहराया है, उससे सनसनी मच गयी है. बता दें कि 10 जून को कफील खान के भाई काशिफ खान पर हमला किया गया जिसे लेकर अब कफील खान ने वो नाम मीडिया को बता दिया है जिसे वः अपने भाई का गुनाहगार मानते हैं. कफील खान ने अपने भाई काशिफ पर हमला करवाने के लिए उत्तर प्रदेश की बांसगांव सीट से भारतीय जनता पार्टी के विधायक कमलेश पासवान को जिम्मेदार ठहराया है.

मासूम बच्चों के हत्यारे तथा इसी केस में जेल काटने के बाद जमानत पर बाहर कफील खान का कहना है कि बीजेपी सांसद कमलेश पासवान और सतीश नांगलिया (बलदेव प्लाजा के मालिक) की इस वारदात के पीछे अहम भूमिका है. कफील खान का कहना है कि उनके भाई पर हमला भाजपा सांसद तथा सतीश नांगलिया ने करवाया है. कफील खान की मानें तो भाजपा सांसद तथा सतीश नंगालियाँ ने इसके लिए बाकायदा शूटर तय किये थे. इसमें आश्चर्य की बात ये है कफील खान को ये बात बताने में 1 सप्ताह लग गया. कफील ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, ‘कमलेश पासवान से मेरे भाई की कोई व्यक्तिगत दुश्मनी नहीं थी. मेरे चाचा और भारतीय जनता पार्टी के सांसद कमलेश और सतीश नांगलिया के बीच जमीन के एक छोटे से टुकड़े को लेकर फरवरी से ही यह विवाद चल रहा है. इस मामले में प्राथमिकी भी दर्ज हुई और हाई कोर्ट ने गिरफ्तारी पर रोक लगा दी थी.

कफील ने ये भी कहा कि पुलिस कमलेश पासवान के इशारे पर काम कर रही है. लेकिन यहाँ सवाल खड़ा होता है कि जब कफील के भाई तथा भाजपा सांसद के बीच विवाद चल रहा है तथा कफील को ये पता था कि भाजपा सांसद कमलेश पासवान ने ही उनके भाई पर हमला कराया है, तब भी आखिर कफील खान को ये बात बोलने में एक सप्ताह क्यों लग गया तथा तभी उनके खिलाफ शिकायत क्यों नहीं दर्ज कराई? 

Share This Post

Leave a Reply