जिन्होंने बनवा डाली केन्द्रीय मंत्री और पुलिस की नक़ली मोहर..उनके झूठे आरोपों पर संसद में उन हिन्दुओं के खिलाफ हुआ हंगामा जो गाय को मानते हैं माँ


नाम उसका जमील, काम- गौतस्करी. जमील ने गौतस्करी के लिए जो तरीका अपनाया उसे जानकार पुलिस भी हक्की बक्की रह गयी. जी हाँ जमील ने केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी के नाम से फर्जी लैटर हेड तथा उनके नाम की फर्जी मोहरें छपवा रखीं थी जिसके माध्यम से वह गायों को तस्करी करता था. बरेली के थाना नवाबगंज पुलिस ने जमील नमक गौतास्कर को गिरफ्तार किया है. बताया गया है कि जमील पशुओं को ले जाने के लिए केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी के लेटर हेड का इस्तेमाल करता था. पुलिस ने जमील के के पास से दो गोवंश, मेनका गांधी का फर्जी लेटर हेड और दो थानों की मोहरें भी बरामद की हैं. इन फर्जी दस्तावेजों के सहारे जमील तथा उसके साथी तस्कर पशुओं को पीलीभीत स्थित गोशाला ले जाने की बात कहकर आसानी से निकल जाते थे.

खबर के मुताबिक, पीलीभीत हाईवे से छोटा टेम्पो दो गोवंशीय पशु को लेकर जा रहा था. तभी के ग्रामीण को उस पर कुछ शक हुआ तो उसने पुलिस को इसकी सूचना दी. सूचना पर जब तक पुलिस मौके पर नहीं पहुंची तब तक वो उसका पीछा भी करते रहे. पीलीभीत हाईवे स्थित गरगईया पेट्रोल पंप के पास पुलिस ने टेम्पो रोक लिया. तलाशी लेने पर वाहन में दो गोवंश मिले. साथ ही केंद्रीय मंत्री के फर्जी लेटर पैड और थानों की मोहरें बरामद हुई है. पूछताछ में  गौतस्कर जमील ने पुलिस को  बताया कि वह मेनका गांधी के फर्जी लेटर पैड दिखाकर पशुओं को पीलीभीत की गोशाला ले जाने की बात करता था. जांच अधिकारी सुदीश कुमार ने बताया कि जमील ने बताया है कि इश्त्कार नाम का एक शख्स उनसे ये काम करवाता है. बदले में एक हजार रुपए मिलते हैं. उन्होंने बताया कि इनके पास से फर्जी लेटर हेड और मोहरें मिली हैं जमील को जेल भेज दिया गया है. मुख्य गिरफ्तारी जल्द की जाएगी.

ज़रा सोचिये कि जमील गौतस्करी के लिए केन्द्रीय मंत्री के नाम का सहारा लेता था ताकि कोई बबाल होने पर मेनका गांधी को बदनाम किया जा सके. जमील की इस साजिश से ये भी संभव है कि जब ये केन्द्रीय मंत्री को फंसाने की साजिश रच सकते हैं तो आम हिन्दू समाज को बदनाम करने के लिए क्या नहीं करते होंगे? सम्भव है की इसी तर्ज पर फर्जी रूप में हिन्दू समाज के लोगों को फंसाया जाता होगा ताकि इससे हिंदुत्व बदनाम हो. जमील तथा उसके साथियों के पास मेनका गांधी के नाम के लैटर हेड मिलना तथा उनके नाम पर गौतस्करी करना एक बहुत बड़ी साजिश है तथा अपराध है. संभव है कि इस तरह से गौतस्कारों के गिरोह ने अन्य आम हिन्दू समुदाय के नाम पर भी ये अपराध किये हों. ये वही लोग हैं जिनके आरोपों पर उन हिन्दुओं के संसद में हंगामा होता है जो गाय को अपनी माँ मानते हैं.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share