सहारनपुर को हिंसा की आग में झोंकने वाले रावण से मिलना चाहते थे केजरीवाल… लेकिन सत्ता है योगी आदित्यनाथ की

सहारनपुर के कुख्यात हाजी इकबाल के इशारे पर भीम आर्मी का मुख्या चंद्रशेखर उर्फ़ रावण एक साजिश के तहत हिन्दू समाज का आपसी सद्भाव समाप्त करने के तमाम नापाक प्रयास किये जिसमें उसे आंशिक सफलता भी मिली लेकिन फिलहाल रावण को योगी सरकार ने जमीन सुंघा दी है तथा एक लंबे समय से जेल की सलाखों से पीछे है. जसी रावण ने समाज में जातिगत जहर घोलने के तमाम प्रयास किये, आश्चर्य देखिये कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी उसी रावण से मिलने के लिए, उसे समर्थन देने के लिए जेल में मिलने जाना चाहते थे लेकिन शायद वह भूल गये थे कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार है.

योगी सरकार ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को झटका देते हुए उनकी उस मांग को ठुकरा द‍िया जिसमें उन्‍होंने सहारनपुर जाकर भीम अार्मी चीफ से म‍िलने की इजाजत मांगी थी.  सहारनपुर के डीएम ने अर‍विंद केजरीवाल की मांग को ठुकराते हुए उन्‍हें रावण से म‍िलने की इजाजत नहीं दी है. इस संबंध में डीएम ने अपने पत्र में कहा है कि कानून- व्यवस्था के मद्देनजर वर‍िष्‍ठ अधीक्षक जिला जेल और एसएससपी दोनों ने ही केजरीवाल के दौरे पर आपत्ति जताई थी. प्रशासन की तरफ से जारी आम आदमी पार्टी (आप) को जारी पत्र के मुताबिक जेल अधीक्षक ने कहा है कि जेल नियमों के तहत कोई राजनेता जेल में किसी कैदी से नहीं मिल सकता है. जेल प्रशासन ने कहा है क‍ि इस मुलाकात के दौरान राजनीतिक बातें भी हो सकती हैं जो बाद में केजरीवाल मीड‍िया के सामने रख सकते हैं तथा जिससे सामाजिक तनाव बढ़ सकता है.

एसएसपी ने कहा है क‍ि सहारनपुर में फिलहाल जातीय तनाव जारी हैं और ऐसे में रावण से मिलने के लिए केजरीवाल को अनुमति देना उचित नहीं होगा. एएसपी ने भी माना है कि केजरीवाल और रावण की मुलाकात राजपूत और दलित समुदाय के बीच तनाव को बढ़ा सकती है. प्रशासन ने कहा है कि जेल में आजाद से मुलाकात के बाद प्रेस वार्ता में केजरीवाल विवादित मुद्दों पर बोल सकते हैं.  इससे दो समुदायों में तनाव बढ़ सकता है.  इतना ही नहीं अगर जेल में किसी कैदी से केजरीवाल मिलते हैं तो इसका विपरीत प्रभाव कैदियों पर पड़ेगा और इससे जेल का माहौल भी खराब होगा.  डीएम ने कहा है कि मुलाकात के बाद भीम आर्मी और आम आदमी पार्टी की तरफ से नारेबाजी भी हो सकती है जिससे तनाव बढ़ने की आशंका है. ऐसे में उन्हें अनुमति नहीं दी जा सकती. बता दें क‍ि द‍िल्‍ली से सीएम केजरीवाल के कार्यालय ने उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍य सच‍िव अनूप पांडेय को पत्र ल‍िखकर सहारनपुर जेल में बंद आजाद से म‍िलने की मांग की थी.  उनकी यह मुलाकात 13 अगस्‍त को होनी थी लेकिन योगी सरकार ने साफ़ कर दिया है कि ऐसा नही होने दिया जायेगा.


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share