डॉक्टर के बाद अब अपराध की राह पर गोरखपुर का कफील.. दे रहा मौत की धमकी एक पीड़ित को

गोरख कॉलेज में मासूम बच्चों का हत्यारा डॉक्टर कफील एक बार फिर से विवादों में है तथा सामने आयी है उसकी वो सच्चाई जिससे राष्ट्र अभी तक अनजान था. मासूम बच्चों के हत्यारे कफील खान की तरफदारी करने वालों का मुंह शायद इस घटना पर न खुले. दरअसल कफील खान के बारे में जो सच्चाई सामने आयी है जो ये साबित करने करने के लिए काफी है कि कफील कोई नायक नहीं है बल्कि एक बहुत बड़ा खलनायक है.

आपको बता दें कि डॉ कफील और उसके भाई आदिल खान पर मुजफ्फर आलम नाम के एक शख्स ने धमकी देने का आरोप लगाया है. पीड़ित का कहना है कि कफील के भाई आदिल तथा उसके दोस्त फैजान पर जालसाजी का केस दर्ज कराने पर उसे धमकी मिल रही है. डॉक्टर कफील और आदिल केस वापसी को लेकर दबाव बना रहे हैं. साथ ही केस वापस नहीं करने पर जानमाल की धमकी दे रहे हैं. दरअसल राजघाट थाना के रहने वाले शेखपुर निवासी मुजफ्फर आलम ने डॉ कफील और उनके भाई आदिल पर धमकी देने का आरोप लगाया है. दिलचस्प है कि डॉ कफील खान के भाई आदिल खान ने फर्जी खाते के जरिए दो करोड़ का ट्रांसजेक्शन किया था. इतना ही नहीं खाते में पीड़ित शख्स की फोटो का इस्तेमाल किया गया था. जबकि फैजान के नाम का इस्तेमाल किया गया था. शहर के सुमेर सागर स्थित यूनियन बैंक की शाखा में साल 2004 में फर्जी खाता खोला गया था.

वहीं साल 2014 में इस बात की जानकारी होने पर युवक ने ऐतराज जताया था. जिस पर अदील खान ने अपने रसूख का इस्तेमाल करते हुये उसे फर्जी मामले में फंसाकर जेल भेज दिया था. वहीं पीड़ित लगातार अपने ऊपर हुये अत्याचार के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है. दरअसल, आरोप है कि अदील और फैजान ने साल 2009 में यूनियन बैंक में फर्जी खाता खुलवाया था. यह खाता फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस के जरिए खोला गया था. सीओ कोतवाली की जांच में मामला सही पाया गया. जिसके बाद एसएसपी के आदेश पर अदील और फैजान पर कैंट थाने में केस दर्ज कर पुलिस तफ्तीश में जुट गई है.

Share This Post

Leave a Reply