Breaking News:

दिल्ली की बशीरन के बाद अब गिरफ्तार हुई सहारनपुर की लेडी डॉन रानो जिस पर था 50 हजार का इनाम.. आखिर कहां तक फैली हैं अपराध की जड़ें


देश में मजहबी उन्माद का संक्रमण किस कदर फैलता जा रहा है इसका प्रत्यक्ष उदाहरण है उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में गिरफ्तार हुई लेडी डॉन रानो. वही रानो जो ह्त्या डकैती के कई मामलों में वांछित थी. आपको बता दें कि सहारनपुर में कांबिंग के दौरान सोमवार की रात को ही पचास हजार के इनामी वाजिद काला की पत्नी रानो को पुलिस ने पकड़ लिया था, लेकिन पुलिस रानो के बारे में खुलासा करने से बच रही है तथा उसे किसी गोपनीय स्थान पर रखा गया है. माना जा रहा है कि उसके माध्यम से पुलिस कई बड़े बदमाशों पर निशाना साधने की जुगत में है तथा उसके माध्यम से कुछ बड़े नाम सामने भी आ रहे हैं. ज्ञात हो की हाली में दिल्ली से एक बड़ी बदमाश बशीरन भी गिरफ्तार हुई थी.

मिली जानकारी के मुताबिक़, ग्राम तुरमतखेड़ी में फरीद के घर पर फायरिंग कर भाग रहे एक बदमाश को लोगों ने धुनाई कर पुलिस को दे दिया है, जबकि दुसरे की मौत हो गयी थी. पुलिस ने पकड़े गए बदमाश से काफी पूछताछ की है और कई महत्वपूर्ण जानकारियां भी मिली हैं, लेकिन पुलिस अभी भी 50 हजार के इनामी वाजिद काला की पत्नी जासमीन उर्फ रानो को लेकर पूरी तरह से गोपनीयता बरत रही है. स्सोत्रों के मुताबिक, पुलिस ने रानो को कांबिंग के दौरान ही गन्ने के खेत से पकड़ लिया था. सूत्रों की मानें तो पुलिस के कुछ अधिकारी उससे लगातार पूछताछ कर रहे हैं तथा पुलिस को काफी जानकारी हासिल भी हुई है. माना जा रहा है कि रानो को पुलिस अब हथियार के रूप में इस्तेमाल करने की तैयारी कर रही है. उसके माध्यम से पुलिस बड़े इनामियों और अन्य बड़े बदमाशों को टारगेट करेगी. कुछ नाम भी पुलिस को मिल चुके हैं. उससे वाजिद काला के बारे में भी पूछताछ की जा रही है लेकिन अभी पुलिस मामले को पूरी तरह से गोपनीय रखे हुए है.

खबर के मुताबिक़, कार में सवार होकर तुरमतखेड़ी में फरीद के घर पर हमला करने के लिए आए बदमाशों की संख्या लोगों ने चार बताई, जबकि बाइक पर सवार बदमाशों की संख्या तीन बताई गई. लोगों से घिरने के बाद सभी बदमाश गन्ने के खेतों में घुस गए. लोगों ने खेतों को घेर लिया. कई थाने की पुलिस, पीएसी खेतों को घेरे रही. फिर भी बदमाश बचकर निकलने में कामयाब हो गए. लेकिनआपसी भिडत में एक बदमाश मारा गया जबकि दूसरे को पकड़ लिया गया.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...