शौहर से तीन तलाक मिलने के बाद ससुर ने किया हलाला तो गर्भवती हो गयी… अब शौहर फिर मुकर गया

तीन तलाक और हलाला के नाम पर एक और मुस्लिम महिला ने पहले आपने ससुर के ही द्वारा अपनी आबरू गंवाई लेकिन उसके बाद भी आज ये महिला दर-2 की ठोकरें खाने को मजबूर है. शर्मशार करने वाला ये मामला उत्तर प्रदेश के बरेली से सामने आया हैं जहाँ एक मुस्लिम महिला के ससुर से हलाला के बाद मां बन गई. जिस शौहर ने हलाला के लिए महिला को मजबूर किया, वही अब उसे अपनाने से मना कर दिया. दरअसल शौहर को शक है कि बीवी से जो औलाद हुआ है, वह उसके पिता का है.

तमाम मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मुस्लिम महिला की शादी 30 सितबंर 2015 को संभल के रहने वाले एक ट्रांसपोर्टर से हुई थी. शादी के कुछ दिन बाद महिला को उसके शौहर ने दहेज के लिए प्रताड़ित करने लगा. प्रताड़ना से तंग आगकर महिला अपने मायके चली आई. इस दौरान शौहर ने महिला को फोन पर तीन तलाक दे दिया. फिर दोबारा निकाह करने के लिए उस ससुर के साथ हलाला करवाया. इसके बाद पति से दोबारा शादी करने के लिए मजबूरन 24 दिसंबर 2016 को उसे ससुर के साथ हलाला करवाया गया. रात भर ससुर की दुल्हन बनकर रहीं . हलाला के अगले दिन सुबह ससुर ने महिला को तलाक दे दी.  इसके बाद वह शादी के लिए तीन महीना 10 दिन की इद्दत पूरी करने लगी. लेकिन इद्दत के दौरान उसके शौहर ने जबरन संबंध बनाए. वह गर्भवती हो गई . इद्दत के बाद पांच अप्रैल 2017 को फिर पहले शौहर से निकाह हुआ.  इसके बाद महिला की असली मुसीबत तब शुरु हुई जब उसके शौहर को पता चला की वह गर्भवती है. पीड़िता के शौहर ने गर्भपात करवाने के लिए गर्भनिरोधक गोलियां लेकर आ गया. महिला ने गर्भपात से इंकार कर दिया तो शौहर ने मारपीट की.

महिला ने कहा कि ‘मेरे शौहर का कहना था कि यह बच्चा पैदा होने से बदनामी होगी.’ क्योंकि हलाला और इद्दत के समय मेरे साथ दो लोगों ने संबंध बनाए. ऐसे में औलाद किसका है यह शक शौहर के जहन में बना रहा. महिला ने आरोप लगाया कि घर में कैद कर उसे खाना पीना भी नहीं दिया जाता था. महिला का कहना है कि बेटे के जन्म के बाद अब उसका शौहर न उसे साथ रख रहा है. इसके बाद महिला ने मेरा हक़ फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी से मुलाकात की है तथा अपने लिए न्याय माँगा है.

Share This Post