किसका था देवरिया का वो NGO जहां कुचली जाती थी मासूमों की जिंदगियां… योगी के मंत्री के खुलासे के बाद राजनैतिक घमासान…

देवरिया शेल्टर होम..जहाँ मासूम बच्चियों के बचपन को कुचला जाता था, जहाँ बच्चियों की इज्जत को नीलाम किया जाता था लेकिन जब इसका खुलासा हुआ तो न सिर्फ उत्तर प्रदेश बल्कि देश की सियासत में तूफ़ान आ गया. विपक्ष तथा तमाम बुद्धिजीवी योगी सरकार पर हमलावर हो गये लेकिन बी योगी के मंत्री बृजेश पाठक ने देवरिया शेल्टर होम को लेकर ऐसा खुलासा किया है जिससे एक बार पुनः राज्य की सियासत गर्म हो गयी है.

योगी सरकार के कानून मंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का ही ये एनजीओ है. इस मामले में वही लोग राजनीति कर रहे हैं.  बृजेश पाठक बाराबंकी में बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालजी टंडन की किताब अनकहा लखनऊ के विमोचन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में आए थे. कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में किताब के लेखक और पूर्व सांसद लालजी टंडन, पूर्व लोकायुक्त एके मेहरोत्रा समेत तमाम दिग्गज इकट्ठा हुए. देवरिया शेल्टर होम कांड को लेकर बोलते हुए बृजेश पाठक ने कहा कि ये घटना बेहद दुखद है, इसकी जितनी भी भर्त्सना की जाए वो कम है. लेकिन ये एनजीओ समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का ही है इसलिए वह इस मामले में राजनीति न करें. पाठक ने कहा किन सीएम योगी आदित्यनाथ ने जबसे प्रदेश में सरकार की बागडोर संभाली है उसके बाद से ही वह लगातार ऐसे मामलों को लेकर चिंतित हैं और वह इस एनजीओ को बंद करने का आदेश काफी पहले ही दे चुके थे.

बृजेश पाठक ने कहा कि जो एनजीओं ये शेल्टर होम चला रहा था उसको सरकार ने फंड देने से मना कर दिया था. सभी अधिकारियों को इस मामले में पत्र लिखकर भी सूचित किया गया था कि वह इस एनजीओ को कोई फंड रिलीज न करें और इस शेल्टर होम को बंद करवाएं, लेकिन अधिकारियों ने इसे चलने दिया. इसीलिए सरकार सभी के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रही है और इस मामले में किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा.  बृजेश पाठक ने कहा कि ये बेहद दुखद मामला है. जब ये एनजीओ इस काम के लायक नहीं थी तो उसे कैसे काम दिया गया, सरकार इस मामले को लेकर बहुत गंभीर है लेकिन इस शेल्टर होम पहले से चल रहा है हमारी सरकार में पर्दाफाश हुआ है तथा हम कार्यवाई कर रहे हैं.

Share This Post

Leave a Reply