“एक शब्द नहीं सुनना मुझे आमिर के खिलाफ” कहने वाली लड़की अब पुलिस के पास कर रही न्याय की गुहार

ये एक थप्पड़ है उन तथाकथित धर्मनिरपेक्ष लोगों के लिए जो कहते हैं कि लव जिहाद कुछ नहीं होता है. ये एक आइना है उन लड़कियों के लिए जो कहती हैं कि ये भगवा गमछे वाले हिन्दू मुस्लिम करके नफरत फैलाने का काम करते हैं. जो लड़कियां कहती हैं कि प्यार हिन्दू मुसलमान नहीं देखता है, प्यार प्यार होता है, लव जिहाद नहीं होता. लेकिन हो सकता है कि शायद इस घटना के बाद तथाकथित धर्मनिरपेक्षता के ठेकेदारों की नहीं तो कम से कम उन हिन्दू युवतियों की ऑंखें खुल जाएँ जो कूल ड्यूड बनी घूमती हैं तथा उनके हित की बात करने वाले हिन्दू संगठनों की आलोचना करती हैं.

मामला उत्तर प्रदेश के बरेली का है जहाँ की एक जिम सेंटर में माथे पर तिलक लगाए, हाथ पर कलावा बांधे गोलू नामक युवक से एक हिन्दू युवती का परिचय होता है. धीरे-२ दोनों में हिन्दू युवती को उस गोलू नामक युवक से प्यार हो जाता है. इसके बाद दोनों लिव इन में रहने लगते हैं तथा गोलू और युवती शारीरिक संबंध भी बनाते हैं. इसके बाद किसी तरह युवती को पता चलता है कि गोलू कोई गोलू नहीं बल्कि आमिर है. इसके बाद भी युवती आमिर के साथ ही रहने की जिद करती है तथा कहती है कि वह आमिर के खिलाफ एक भी शब्द नहीं सुनेगी. लाख समझाने के बाद भी वह आमिर के साथ ही रहती है तथा आगे चलकर बिना शादी किये ही युवती एक बच्ची को जन्म देती है. लेकिन अब गोलू का वास्तविक चेहरा अब सामने आता है. जब युवती गोलू पर शादी का दवाब बनाती है तो गोलू का जो जवाब होता है वो उस युवती के होश फाख्ता कर देता है. गोलू का ये जवाब हर उस हिन्दू युवती को सुनना चाहिए जो कूल ड्यूड बनकर लव जिहाद की वास्तविकता को स्वीकार नहीं करती हैं. गोलू लिव इन में रह रही उस हिन्दू युवती से कहता है कि अगर वह उससे शादी करना चाहती है तो उसे अपना धर्म परिवर्तन करके मुसलमान बनना होगा तथा गौमांस खाना होगा.

ये सुनकर शादी से पहले ही गोलू उर्फ़ आमिर के साथ शारीरिक संबंध बनाकर एक बच्ची को जन्म दे चुकी हिन्दू युवती दंग रह जाती है तथा धर्मांतरण करने तथा गौमांस खाने से इंकार कर देती है तो इसके बाद गोलू उससे रिश्ता खत्म कर लेता है तथा उसको छोड़ देता है. अब युवती ने आईजी से मिलकर न्याय की गुहार लगाई है. पीड़िता का कहना है कि आमिर उसे धमका रहा है तथा उसकी एक साल की मासूम बच्ची और उसकी जान को खतरा है. अगर उसे पुलिस से इंसाफ नहीं मिला तो वो लखनऊ जाकर सीएम योगी से इंसाफ की गुहार लगाएगी. आईजी रेंज ध्रुवकांत ठाकुर का कहना है कि पीड़ित युवती उनके पास आई है और उसने बताया कि एक युवक ने उसे शादी का झांसा देकर संबंध बनाये और जब शादी का दबाब बनाया तो युवक ने धर्म परिवर्तन का दबाब बनायाआईजी ने मामले की जांच के आदेश दिए है।

Share This Post