कई दिन से छात्रा का पीछा कर रहा था जावेद लेकिन छात्रा को पता था धर्म और हिंदुत्व.. फिर वही हुआ जो गीता में लिखा है

बहशी मानसिकता से ग्रसित जावेद आये दिन उस हिन्दू युवती से छेड़छाड़ करता रहता था, केवल उस युवती के साथ ही बल्कि अन्य कई युवतियों पर फब्तियां कसना, अश्लील इशारे करना जावेद का काम था. जावेद के निशाने पर हिन्दू लड़किया होती थी ताकि किसी प्रकार वह वह उन्हें अपने झांसे में फंसाये तथा फिर उनका यौन शोषण कर सके, उन्हें अंतहीन प्रताड़ना दे सके. फिर एक दिन वो हुआ जिसका बहशी जावेद को अंदाजा भी नहीं था. जावेद सको शायद पता नहीं था कि जो हिन्दू युवती उसके निशाने पर है, वह धर्मनिरपेक्ष नहीं बल्कि प्रखर हिंदुत्ववादी, सनातनी हिन्दू युवती है जो उस परंपरा को जीती है जो कभी महारानी पद्मिनी व महारानी दुर्गावती ने निभाई थी.

मामला उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर के जेवर का है. जावेद की रोज रोज की छेड़छाड़ से हिन्दू युवती तंग आ चुकी थी तथा अब उसने सोच लिया था कि हद से ज्यादा सहन करना इंसानियत नहीं बल्कि कायरता की निशानी है तथा पाप को,अधर्म को बढ़ावा देना है. उस युवती ने सोच लिया कि अगर समय रहते जावेद को सबक न सिखाया गया तो जावेद न सिर्फ उसके लिए बल्कि अन्य लड़कियों के लिए भी हानिकारक सिद्ध हो सकता था. उसके बाद उस जांबाज हिन्दू युवती ने वो किया जो उसको करना चाहिए था तथा जो श्रीमद्भगवद गीता कहती है. रोज की तरह उस दिन भी हिन्दू युवती अपनी कोचिंग से लौट रही थी तथा एक बार पुनः रास्ते में जावेद खड़ा हुआ था. लेकिन शायद जावेद को पता नहीं था कि आज उसके साथ वो होने वाला है जो उसने सोचा भी नहीं है.

हर दिन की तरह उस दिन भी जेवर के मोहल्ला मानक चेक में सोमवार शाम को कोचिंग से लौटती हिन्दू युवती के साथ जैसे ही जावेद ने अश्लीलता की, वैसे ही युवती ने महाकाली का रूप धारण कर लिया तथा जावेद पर टूट पडी. जब तक जावेद कुछ समझता तब युवती जावेद कि धुनाई कर चुकी थी तथा उसके साथ छेड़खानी करने वाला जावेद जमीन पर पड़ा कराह रहा था. इसी बीच आस पास के लोग भी वहां पहुँच गए तथा जावेद की जमकर पिटाई की, फिर उसे पुलिस को सौंप दिया.

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW