शासन नहीं भूला उस मदरसे को जिसमें मौलवी अड़ा रहा राष्ट्रगान के विरोध में… पहले मौलवी गया जेल और अब एक और कार्यवाही

15 अगस्त को स्वतन्त्रता दिवस पर जहाँ पूरा देश आजादी का जश्न मना रहा था, तिरंगा फहरा था था, राष्ट्रगान गा रहा था लेकिन इसी बीच उत्तर प्रदेश के महाराजगंज के एक मदरसे से एक ऐसी घटना सामने आयी जिसने पूरे राष्ट्र को सन्न कर दिया. दरअसल योगी आदित्यनाथ शासित उत्तर प्रदेश के महराजगंज के मदरसे में मौलवी ने राष्ट्रगान गाने से साफ़ मना कर दिया. मौलवी ने न तो खुद राष्ट्रगान गाया और न ही किसी को गाने दिया. मौलवी ने तर्क दिया कि राष्ट्रगान उसके मजहब के उसूलों के खिलाफ है इसलिए राष्ट्रगान नहीं होगा और अंततः राष्ट्रगान नहीं हुआ. किसी ने इस घटना का विडियो बना लिया तथा सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया जिसके बाद पूरे राष्ट्र से मौलवी तथा मदरसा संचालक के खिलाफ तीखी प्रक्रिया हुई तथा राष्ट्रगान विरोधियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग की.

मदरसा के मौलवी ने राष्ट्रगान तो रोक दिया था लेकिन शायद वह भूल गया था कि उत्तर प्रदेश में योगीराज है. विडियो सामने आने के बाद योगी सरकार ने मदरसे पर कार्यवाही शुरू की. पहले राष्ट्रगान का विरोध करने वाले मौलवी व मदरसा संचालक सहित तीन लोगों को प्रशासन ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया तथा अब बच्चों को राष्ट्रगान नहीं गाने देने वाले मदरसे की मान्यता रद्द कर दी गई है. महाराजगंज के जिला अधिकारी ने जांच रिपोर्ट में पाया कि इस मदरसे में ध्वजारोहण के बाद राष्ट्रगान नहीं गाने दिया गया. जांच रिपोर्ट आने के बाद महाराजगंज जिले के अरबिया अहले सुन्नत गर्ल्स मदरसे की मान्यता खत्म की गई है. उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक मामलों के राज्य मंत्री मोहसिन रजा की जांच में मदरसे में गड़बड़ियां पाई गई हैं. 15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाए दिए जाने के आरोप को भी सही पाया गया है. इस मदरसे के संचालक जुनैद अंसारी सहित तीन लोग राष्ट्रगान के अपमान के आरोप में जेल में हैं.

गौरतलब है कि महाराजगंज पुलिस ने मोहम्मद जुनैद अंसारी, मोहम्मद अज़लूर रहमान और मोहम्मद निजाम को गिरफ्तार किया था. इन तीनों ने 15 अगस्त को लड़कियों के मदरसे में तिरंगा फहराए जाने के बाद राष्ट्रगान का न सिर्फ विरोध किया था बल्कि उसे रोका भी था. मदरसा संचालक तथा कट्टरपंथी मौलाना ने सोचा था कि ऐसा करके वो बच जायेंगे लेकिन योगी सरकार इसे भूली नहीं तथा अब न सिर्फ मौलाना जेल में है बल्कि मदरसा की मान्यता भी रद्द कर दी गयी है.

Share This Post