ये कोई बॉलीवुड एक्टर नहीं बल्कि #UPPolice का एक जांबाज़ अधिकारी है जिसे नाम मिला है “मिस्टर एनकाउंटर”

गीता का आदेश है कि परित्राणाय साधुना विनाशाय च दुष्कृताम .. अर्थात सज्जनों का सम्मान और दुष्टों को दंड ये एक महान व्यक्ति के लक्ष्ण होते हैं . यही करने का आदेश भगवान् कृष्ण ने युद्ध क्षेत्र में अर्जुन को भी दिया था और उसके बाद ही अर्जुन इतिहास में सदा सदा के लिए अमर हो गये . युद्ध क्षेत्र में अपनी वीरता को साबित करने वाला ही आख़िरकार महान माना जाता है और शामली का चार्ज जब श्री अजय पाल शर्मा जी ने लिया था तब वो स्थान तमाम आरोपों प्रत्यारोपो का शिकार था जिसमे सबसे बड़ी खबर हुआ करती थी कैराना का पलायन … ये मुद्दा न सिर्फ देश अपितु विदेशो तक में गूंजा था .

ऐसे मौकों पर शामली पुलिस की कमान सम्भालने वाले IPS अधिकारी श्री अजय पाल शर्मा जी ने अपराधियों को कौरवों के रूप में लिया और खुद अर्जुन बन कर कुरुक्षेत्र जैसा संग्राम किया जिसमे शामली की भूमि कई बार जंग का मैदान बनी जहाँ एक तरफ पुलिस और दूसरी तरह अपराधी हुआ करते थे . लेकिन अंकित तोमर जैसे वीरों के बलिदान से आखिरकार शामली में पूरी तरह से कानून का राज शुरू हुआ जिसके सेनापति रहे थे श्री अजय पाल शर्मा जी . 

डॉ. अजय पाल शर्मा का जन्म पंजाब के लुधियाना में 26 अक्टूबर 1985 को हुआ था। अजय पाल के पिता अमरजीत शर्मा और मां प्रेम शर्मा की दो संतान है। अजय पाल इनके बड़े बेटे हैं जो यूपी कैडर के 2011 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। अजय पाल शर्मा अपने पिता को अपना आदर्श मानते हैं। एसपी अजयपाल शर्मा लोगों के बीच जाकर उनकी समस्याओं का समाधान करने पर जोर देते हैं।

इनके कार्यों की गूँज पडोसी राज्य हरियाणा तक रहती है . यहाँ तक कि कानून व्यवस्था पर नियंत्राण करने के मामले में प्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले शामली के एसपी डॉ. अजयपाल शर्मा को हरियाणा सरकार के मुख्यमंत्री तक सम्मानित कर चुके हैं जब श्री मनोहरलाल खट्टर ने करनाल में आयोजित एक समारोह में शामली के एसपी डॉ. अजयपाल शर्मा को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया था .. शामली जनपद में कई खूंखार अपराधियों को मुठभेड में मार गिराने वाले डॉ. अजयपाल शर्मा को उत्तर प्रदेश सरकार ने भी सराहनीय कार्य करने पर बधाई दी थी। 

उत्तर प्रदेश के शामली जिले में पदस्थ वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय पाल शर्मा जी को जनता के बीच में सामाजिक और अच्छे कार्य करने की वजह से वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड में स्थान हासिल हुआ था। यह उत्तर प्रदेश पुलिस के साथ पूरे देश के लिए ऐतिहासिक पल था .. वर्ल्ड बुक ऑफ़ रिकार्ड्स का मुख्यालय लंदन में स्थित है जो सामाजिक कार्यों के लिए प्रशस्ति पत्र प्रदान करता है। यह प्रशस्ति पत्र अजय पाल शर्मा को उनके जन्मदिवस यानि 26 अक्टूबर को दिया गया था . 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदिल्यनाथ ने शास्त्री भवन में आयोजित वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनपदों में कानून-व्यवस्था तथा विकास कार्याें के क्रियान्वयन की समीक्षा के दौरान जनपद शामली के पुलिस अधीक्षक अजय पाल शर्मा के कार्य कुशलता की तारीफ करते हुए कहा था कि अपराध नियंत्रण के लिए सभी पुलिस अधीक्षकों को ऐसे ही कार्य करना चाहिए। असल में बदमाशो में शामली जाने से दहशत होने लगी है वजह बदमाशो की पनाहगाह शामली जनपद अब उनके लिए सुरक्षित नही रह गया है क्योंकि यहां का कप्तान एनकॉउंटर स्पेशलिस्ट है..

अभी हाल में ही नवनियुक्त DGP ने मेरठ के रिजर्व पुलिस लाइन में डीजीपी ने मेरठ जोन के सभी कप्तानों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने आतंक और अपराध से पूरी तन्मयता से लड़ रही उत्तर प्रदेश पुलिस की तारीफ भी की। डीजीपी ने इस मीटिंग में शामिल होते ही सामने पड़े शामली के एसपी अजय पाल से पूछा, आज कोई एनकाउंटर तो नहीं किया। इस पर एसपी मुस्कुराए और डीजीपी ने खुश होकर बोले शाबाश। ये शाबाशी असल में आसान नहीं थी , इसके लिए कई बार पुलिस अधीक्षक महोदय ने सीधे सीधे अपनी जिन्दगी दांव पर लगाईं है जिसके प्रमाणों के रूप में शामली छोड़ कर भाग रहे अपराधी हैं . 

15 अगस्त के पावन पर्व पर कस्बे व क्षेत्र वासियों ने जनपद का इतिहास बदल देने वाले एसपी डॉक्टर अजय पाल शर्मा कस्बे के लोगो ने क्राइम पर कंट्रोल करने पर सम्मान समारोह किया गया था.  शामली के कांधला में लोगों ने एनकाउंटर स्पेशलिस्ट का जनपद में अपराध मुक्त करने पर बधाई दी। जनपद शामली के थाना क्षेत्र कांधला के जैन अतिति भवन में शामली के एसपी डॉक्टर अजय पाल शर्मा का कस्बेवासियों ने ढोल नगाड़ों के साथ सम्मान समारोह किया गया था , जिसमे स्कूली छात्र छात्राओं ने देशभक्ति कार्यक्रम कर लोगो को भावुक कर दिया जिसमें कस्बे के संतगोरख नाथ स्कूल ,सरस्वती विद्या मन्दिर व ईडन कोर्वेन्ट स्कूल के बच्चों ने बैंड बाजो के साथ sp का स्वागत किया, जिसमें करीब एक किलामीटर तक बैंड बाजे देखने को मिले.. ऐसे पराक्रमी अधिकारी को उनके साहसिक कार्यों के लिए सैल्यूट करते हुए सुदर्शन न्यूज़ उनके अपराध दमन के प्रयासों में जनमानस से सहयोग की अपील भी करता है . 

Share This Post