शेर सिंह राणा के साथ मंच पर जो दिखा उसको देखकर कोई भी यकीन नहीं कर पा रहा.. शायद आप भी न कर पायें


शेर सिंह राणा.. शायद इस नाम हर कोई जानता होगा. वही शेर सिंह राणा जिस पर समाजवादी पार्टी की सांसद तथा दस्यु सुन्दरी फूलन देवी की ह्त्या करने का आरोप लगा था, तथा फूलन देवी हत्याकांड में शेर सिंह राणा को उम्रकैद की सजा सुनाई गयी है. वही शेर सिंह राणा जो देश की अतिसुरक्षित तिहाड़ जेल से फरार हो गया था व् शेर सिंह राणा के दावानुसार इन दौरान वह अफगानिस्तान गया तथा वहां से महानतम योद्धा प्रथ्वीराज चौहान की अस्थियाँ लेकर आया जो उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जनपद के बेबर में स्थापित की हुई हैं.

फूलन देवी हत्याकांड में उम्रकैद की सजा पाए तथा जमानत पर बाहर शेर सिंह राणा एक बार फिर से सुर्ख़ियों में हैं. दरअसल क्षत्रिय समाज के एक कार्यक्रम के दौरान जिसमें शेर सिंह राणा शामिल हुए थे, उसी कार्यक्रम में उनके साथ मंच पर एक इसी शख्सियत मौजूद थी जिसे देखकर हर कोई हैरत में पड़ गया. इस कार्यक्रम इं शेर सिंह राणा के साथ फूलन देवी की बहिन मुन्नी देवी ने मंच साझा किया.  मथुरा के वृन्दावन में हुए क्षत्रिय राष्ट्रीय अधिवेशन में एक ही मंच पर फूलन देवी केस की मुख्य गवाह व फूलन देवी की बहन मुन्नी देवी और फूलन देवी की हत्या के आरोपी शेर सिंह राणा को एक साथ देखकर हर कोई दंग रह गया.

क्षत्रिय समाज के कार्यक्रम में वो भी शेर सिंह राणा के साथ फूलन देवी की बहन का आना अपने आप में एक बहुत बड़ी बात है. इस कार्यक्रम में फूलन देवी की बहिन मुन्नी देवी ने कहा कि उनकी क्षत्रिय समाज से कोई दुश्मनी नहीं है बल्कि वह क्षत्रिय समाज का सम्मान करती हैं तथा इस मंच आने का उद्देश्य सिर्फ इतना है कि हम पुराने मतभेद भूल चुके हैं तथा हमारी आने वाली पीड़ीएक दुसरे के प्रति कटुता न रखे. उन्होंने कहा कि दलित हो या क्षत्रिय दोनों एक ही धर्म के हैं अलग नहीं हैं. मुन्नी देवी ने जातिगत आरक्षण को क्षत्रिय समाज की आवाज का समर्थन किया तथा कहा कि आरक्षण जातिगत नहीं बल्कि आर्थिक होना चाहिए. मुन्नी देवी ने कहा कि जब भी कोई क्षत्रिय समाज का युवा या कोई सवर्ण जाति का छात्र अच्छे अंक पाने के बाद भी नौकरी में नहीं चुना जाता तो वो समय उसके लिए काफी कष्टकारक होता है जिसकी हम कल्पना तक नहीं कर सकते. उन्होंने कहा कि जातिगत आरक्षण की अब आवश्यकता नहीं है बल्कि हर समाज के कमजोर तबके को आरक्षण देना चाहिए.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share