Breaking News:

मजहबी उन्मादियों के आतंक से सहम गया मेरठ… उन्मादियों ने घेर लिया था कल्लू का मकान

उत्तर प्रदेश का मेरठ शहर साम्प्रदायिक नजरों से बेहद की संवेदनशील इलाका माना जाता है जहां से अक्सर उन्मादियों का कहर देखने को मिलता है तथा साम्प्रदायिक स्थिति तनावपूर्ण हो जाती है. एक बार पुनः मेरठ शिकार हुआ इसी साम्प्रदायिकता के दंश का जब कुछ मजहबी उन्मादियों ने मामूली सी बात को लेकर कल्लू का हजार घेर लिया तथा कश्मीरी अंदाज मैं भयंकर पत्थरबाजी की. स्थिति इतनी ज्यादा तनावपूर्ण कि पुलिस को उन्मादी भीड़ पर लाठीचार्ज करना तथा मेरठ सुलगने से बच गया.

मामला मेरठ. के देहली गेट थानाक्षेत्र के पत्ता मोहल्ले का है जहां एक टिप्पणी को लेकर दो पक्षों में बवाल मच गया. मामले की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों की तरफ से मुकदमा दर्ज किया. इस सांप्रदायिक बवाल में एक पक्ष ने चार तो दूसरे पक्ष के छह लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करया है. पुलिसे ने थाने पर पथराव और अभद्रता करने वालों को भी इन्ही मुकदमों में आरोपी बनाया है. साथ ही कई अज्ञात लोग भी नामजद किए गए हैं. ये वारदात शुक्रवार की शाम की है जब मोहल्ला निवासी कल्लू पर वहीं के अथर और नाजिम ने अभद्र टिप्पणी कर दी थी. कल्लू ने इसका विरोध किया तो उन्मादियों कल्लू पर हमला कर दिया. जिसके बाद माहौल बिगड़ने लगा तथा देखते ही देखते सांप्रदायिक स्थिति पैदा हो गयी तथा उन्मादियों के कल्लू के घर को घेर लिया तथा भयंकर पत्थरबाजी शुरू कर दी. मारपीट के दौरान एक पक्ष के दो लोग और दूसरे पक्ष के छह लोग घायल हो गए.

सूचना मिलने पर पुलिस पहुँची तथा मामले को सुलझाने का प्रयास किया. लेकिन उन्मादी थे कि मानने का नाम ही नहीं ले रहे थे तथा पुलिस के सामने ही उत्पात शुरू कर दिया तथा मजहबी नारेबाजी शुरू का दी. इसके बाद पुलिस को मजबूरन लाठीचार्ज करना पड़ा. थाने पहुंचकर भी दोनों पक्षों की तरफ से नारेबाजी होती रही. स्थिति और न बिगड़े इसे देखते हुए भारी मात्रा में पुलिस बल को तैनात करना पड़ा. मामले की जानकारी देते हुए एसपी सिटी रणविजय सिंह ने बताया कि खराब माहौल की वजह से उन्होंने सात थानों की फोर्स को बुलवाया और लाठीचार्ज किया, जिसके बाद हालात काबू किये जा सके.

Share This Post