जानिए क्यों योगी आदित्यनाथ ने लोकसेवा आयोग के अध्यक्ष को किया तलब?

लखनऊ : यूपी में कमान संभालते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक्शन पर एक्शन ले रहे हैं। इसी कड़ी में योगी आदित्यनाथ ने यूपी लोकसेवा आयोग के अध्यक्ष अनिरुद्ध सिंह यादव को तलब कर दिया है। डॉ. अनिरुद्ध यादव पर यूपीपीएससी में भर्ती में एक विशेष जाति को प्राथमिकता देने का आरोप हैं। बताया जा रहा है कि एमएससी दिनेश सिंह की शिकायत पर योगी ने अनिरुद्ध यादव को तलब किया है।

जानकारी के मुताबिक, पिछली सरकार के दौरान यूपी लोक सेवा आयोग में हुई भर्तियों की सीबीआई जांच के आदेश दिए जा सकते हैं। बता दें कि योगी सरकार बनने के बाद से ही आयोग में भर्तियों और इंटरव्यू पर रोक लगी हुई है। इसके साथ ही अनिरुद्ध को यूपी लोकसेवा आयोग के चेयरमैन के पद से हटाया जा सकता है।

गौरतलब है कि पिछले ही साल राज्यपाल राम नाईक ने डॉ. अनिरुद्ध सिंह यादव को उत्‍तर प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन (UPPSC) का नया चेयरमैन नियुक्त किया था। उससे पहले डॉ. अनिरुद्ध डॉ. यादव गोविंद बल्लभ पंत महाविद्यालय बदायूं के प्राचार्य पद पर थे। वहीं, योगी आदित्यनाथ ने सभी विभागों के अफसरों से कामकाज का ब्योरा और ब्लू प्रिंट मांगा है। 20 अप्रैल तक अफसर अपने विभाग की प्रजेंटेशन देंगे।

आज योगी सीनियर ब्यूरोक्रेसी की पहली क्लास लेंगे। प्रमुख सचिव और सचिव स्तर के अधिकारी आज से अपने विभाग के कार्ययोजना की प्रजेंटेशन मुख्यमंत्री को देंगे। सोमवार को पहली प्रजेंटेशन शिक्षा विभाग को लेकर होगी। CM के सामने उच्च शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा, बेसिक शिक्षा, व्यवसायिक शिक्षा, प्राविधिक शिक्षा और कृषि शिक्षा जैसे विभागों की प्रजेंटेशन होगी। इस बैठक में इन विभागों के सभी आला अधिकारी और विभागध्यक्ष मौजूद रहेंगे।

Share This Post