Breaking News:

ससुर ने बलात्कार किया तो उसने मुंह खोल दिया.. बस यही बात बन गई उसकी दुर्दशा का कारण

पति की गैरमौजूदगी में एक मुस्लिम महिला के साथ उसके बहसी ससुर ने बलात्कार करके ससुर-बहू के पावन रिश्ते को तार-२ कर दिया. जब बहू ने घर पर मौजूद अपने नन्दोई को आपबीती सुनाई तो नन्दोई ने भी कमरे में बंद करके उसके साथ बलात्कार लिया. पति के घर वापस आने पर जब पीड़िता से उसे साड़ी बात बताई तो पति ने जो बोला उसे सुन शर्म भी शर्म से शरमा उठेगी. पति ने कहा कि मेरे अब्बू व जीजा ने तुम्हारे साथ रेप किया है तो क्या हुआ, ये सब होता रहता है. लेकिन महिला ने जब इसका विरोध किया व पुलिस में शिकायत दर्ज कराने की बात कही तो पति ने तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया.

मामला उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले का है. खबर के मुताबिक़, खरखौदा क्षेत्र की एक युवती की शादी हापुड़ जिले के धौलाना क्षेत्र में हुई थी. उसका आरोप है कि शादी में उसके परिजनों ने आठ लाख रुपये खर्च किए थे. ससुराल वाले कार और दो लाख रुपये की मांग करते रहे थे. उन्होंने मांग पूरी नहीं होने पर उसे घर में बंद करके भूखा प्यासा रखा. वह बेटी के खातिर उत्पीड़न बर्दाश्त करती रही. 12 जुलाई को उसका पति किसी काम से गुरुग्राम गया था. आरोप है कि उसके ससुर ने रेप किया. 14 जुलाई को ननदोई ने भी उसे हवस का शिकार बनाया. वह तीन माह की गर्भवती है. इसके बावजूद उस पर तरस नहीं खाया. मंगलवार को पति के लौटने पर उसने ससुर और ननदोई की हरकत बताई. इस पर सास ने उसे पीटा. आरोप है कि उसके सास, ससुर व ननदोई ने पति से कहा कि उसे तलाक दे दे. इस पर उसके पति ने तीन बार तलाक बोल दिया तथा उसे कार में बैठाकर उसी दिन शाम को खरखौदा उसके मायके छोड़ गया. इसके बाद पीड़ित अपने भाइयों के साथ थाने पहुंची और ससुराल वालों के खिलाफ तहरीर दी.

इंस्पेक्टर राजेंद्र त्यागी ने बताया कि विवाहिता के पति, सास, ससुर और ननदोई के खिलाफ दुष्कर्म, मारपीट, दहेज उत्पीड़न का मामला दर्ज कर लिया गया है. तीन तलाक देने के आरोपों के बारे में उच्चाधिकारियों और कानूनी विशेषों से सलाह ली जा रही है. एसएसपी मेरठ राजेश पांडेय का कहना है कि विवाहिता के मायके वालों ने दहेज प्रताड़ना, मारपीट सहित तीन तलाक देकर मायके छोड़ जाने के आरोप लगाए हैं. पीड़ित की तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर लिया गया है. आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं.

Share This Post