गाय को काटने के लिए जूनून चढ़ा था उन सबमें…जिसमें एक औरत भी थी शामिल

उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनते ही योगी आदित्यनाथ जी ने स्लॉटर हाउस पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया था लेकिन उसके बाद भी कुछ ऐसे मजहबी उन्मादी व्यक्ति मौजूद हैं जो अभी भी चोरी छिपे गौतास्करी का कार्य कर रहे हैं. पहले तो इस कार्य में सिर्फ पुरुष ही लगे थे लेकिन अब महिलाएं भी इस कार्य इस कार्य को कर रही हैं. पुलिस और आसपास के लोगों को शक न हो इसलिए गौकशी का कारोबार करने वाले लोग महिलाओं से इस अवैध कारोबार को करवा रहे हैं. महिलाएं भी इस कार्य में पुरुषों का सहयोग कर रही हैं तथा हिंदुत्व की आस्था गौमाता की तस्करी का कार्य कर रही हैं.

लेकिन शायद ये भूल गये हैं कि योगी की पुलिस से ज्यादा दिन तक नहीं बचा जा सकता है. खबर के मुताबिक मेरठ के जोनी थाना क्षेत्र की पुलिस ने रविवार की देर रात एक सूचना पर कार्रवाई करते हुए घर में गोकशी करती महिला सहित तीन लोगों को दबोच लिया. एसओ ने बताया कि आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है.  जानी थाना प्रभारी प्रेमंचद शर्मा के मुताबिक, रविवार की देर रात मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने महिला कॉन्स्टेबलों को साथ लेकर सिसौला कलां स्थित रफुद्दीन के छापा मारा.पुलिस को देख गोकशी कर रहे लोगों में हड़कंप मच गया.

पुलिस ने मौके से करीब 40 किलो मांस, खून से सने छुरे, चाकू व कटान के उपकरण बरामद किये हैं. बताया गया है कि मौके से रफुद्दीन और उसकी पत्नी जौहरा हसीन उर्फ छोटी व आरिफ उर्फ माडू पुत्र अय्यूब को गोकशी करते हुए रंगे हाथ दबोचा गया. पूछताछ में आरोपियों ने बताया है कि उन्होंने एक बछिया को काटा है. मौके से बरामद मांस की जांच कराने पर गोवंश का पाया गया है, पुलिस ने बरामद मांस को गड्ढे में दबवाकर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. एसओ प्रेमचंद शर्मा ने बताया कि आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से कोर्ट ने उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया. पुलिस का कहना है कि हर उस अपराधी के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जायेगी जो माहौल खराब करने की कोशिश करेगा.

Dailyhunt

 

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW