मदरसे में नाबालिग छात्र के साथ कुकर्म.. गिरफ्तार हुए मौलवी पर खामोश है बड़ा बुद्धिजीवी वर्ग

एक बार फिर मदरसे में तालीम के नाम शोषण किया गया है के नाबालिग छात्र का तथा शर्मशार हुई है मानवता व इंसानियत. नाम था अब्दुल कलाम तथा वह मौलवी था एक मदरसे का लेकिन मौलवी के अंदर छिपा हुआ था हैवान जो तबाह कर रहा मासूम बच्चों की जिन्दगी जो मदरसे में उसके पास दीनी तालीम लेने आते थी तथा वह दीनी तालीम के नाम पर करता था उन मासूम बच्चों के साथ कुकर्म. समझ नहीं आता कि आखिर वह कौन सी सोच है जो अपनी बहशी मानसिकता से ग्रसित होकर इंसानियत को ही कुचल डालती है तथा कभी बच्चियों को तो कभी बच्चों के साथ दरिंदगी को अंजाम देती है? अब्दुल जिसे मौलवी बनाया गया तथा जिम्मेदारी दी गयी बच्चों को दीनी तालीम देने की लेकिन उसने तो मदरसे को कुकर्म का अड्डा ही बना दिया.

मामला उत्तर प्रदेश के आगरा के अछनेरा क्षेत्र का है. खबर के मुताबिक़, थाना अछनेरा क्षेत्र के एक कस्बे में संचालित मदरसे में कक्षा सात के 12 वर्षीय छात्र से मदरसे के मौलवी ने कुकर्म किया. पुलिस ने पीड़ित छात्र के पिता की तहरीर पर आरोपी के खिलाफ पाक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. दरअसल, फतेहपुर सीकरी क्षेत्र के एक गांव का 12 वर्षीय किशोर सातवीं क्लास में अछनेरा क्षेत्र के एक मदरसे में पढ़ता है. उसने एक माह पूर्व ही दाखिला लिया था तथा 15 दिन से मदरसे में रह रहा था. मदरसे में कुल 15 छात्रों का दाखिला है. छात्र का आरोप है कि बिहार के पूर्निया जिले के रहने वाला मौलवी 10 दिन से मदरसे में रात्रि के समय उसके साथ कुकर्म कर रहा था. मौलवी की करतूतों से आजिज आकर छात्र ने इसकी जानकारी घरवालों को दी.

पीड़ित छात्र के पिता की तहरीर पर पुलिस ने मौलवी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है. छात्र के पिता ने बताया कि मस्जिद के हाफिज से पांच अगस्त को ही आरोपी की शिकायत की गई थी, लेकिन उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की बल्कि मामले को दबा लिया. वहीं तहरीर मिलने पर प्रभारी थाना अछनेरा ग्रीस चंद्र गौतम सिपाहियों के साथ मदरसे में पहुंचे. उन्होंने हाफिज से मामले में पूछताछ की. इसके बाद हाफिज ने आरोपी को पुलिस को सुपुर्द कर दिया जिसके बाद पुलिस आरोपी मौलवी अब्दुल कलाम को थाने ले आई.

Share This Post