शौहर हार गया था बीबी को जुए में… अदालत और पुलिस बनी सहारा वरना सौंपने वाला था वो उसे साथी को

उसकी विकृत निम्नस्तरीय मानसिकता तो देखिये, उसके लिए न उसकी पत्नी मायने रखी और न उसके बच्चे. शायद वो अपने बीबी बच्चों को कोई वस्तु समझता था और उसने बीबी बच्चों को जुए में दाव पर लगा दिया तथा हार गया. वह अपनी बीबी को अपने जुआरी दोस्त को उपभोग के लिए सौंपने वाला था लेकिन उसकी बीबी ने सक्रियता दिखाई जिसके कारण पुलिस व अदालत के हस्तक्षेप से उसका जीवन तबाह होने से बच गया वरना उसकी जिन्दगी नीलाम हो ही गयी थी.

मामला उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर से जुड़ा है. खबर के मुताबिक बुलंदशहर में एक जुआरी पति मोहसिन अपनी बीवी और दो बच्चों को अपने दोस्त इमरान से जुए में हार गया. जीतने वाला उसके बीवी-बच्चों को जब लेने आया. मोहसिन ने अपनी बीबी को उसके साथ जाने को कहा लेकिन उसकी बीबी ने मना किया तो मोहसिन तथा इमरान ने उसके साथ ज्यादती की कोशिश की लेकिन बीबी प्रतिशोध करती रही. इस पर इमरान उसके एक बच्चे को ज़बरन उठाकर ले गया. बीवी ने अदालत में पहुंचकर सारी कहानी बताई. अदालत के हुक्म से मामले की एफआईआर हुई. मामले की जांच शुरू हो गई है.

खबर के मुताबिक, मोहसिन नाम के शख्स को शुरू से ही जुए की लत थी. अपने दोस्त इमरान को वह अलीगढ़ से बुलंदशहर बुलाकर जुआ खेलता था. एक रोज़ जब उसके पास दांव लगाने को रुपये नहीं बचे तो उसने बारी-बारी से पहले दोनों बच्चों और फिर बीवी को दांव पर लगा दिया और हार गया. फिर एक रोज इमरान मोहसिन की बीवी समराना और उसके बच्चों को लेने उसके घर पहुंच गया. समराना के मना करने पर इमरान उसके बच्चे को छीन ले गया. जिसके बाद समराना को मोहसिन ने छोड़ दिया. वह अपने बच्चे को वापस पाने के लिए अदालत के चक्कर काटती रही. आखिरकार अदालत ने पुलिस को एफआईआर दर्ज कर जांच करने का हुक्म दिया. बुलंदशहर के एसपी सिटी प्रवीर रंजन सिंह ने कहा कि ‘इसमें महिला के यह आरोप है कि उसका पति उसको जुए में हार गया था. माननीय न्यायालय के आदेश पर यह अभियोग पंजीकृत कराया गया है

Share This Post

Leave a Reply