वो किसी और की बेटी को गुमराह करें तो वो प्रेम है.. लेकिन जब कोई उनके घर में प्रेम कर ले तो “मौत”.. ऐसा क्यों किया हाथरस में ?

जब वो लव जिहाद करते हैं तब कहा जता है कि ये प्रेम है कोई लव जिहाद नहीं तथा प्रेम के बीच में किसी को नहीं आना चाहिए. वो किसी और के घर की बहिन बेटी को गुमराह करें प्यार का ढोंग भी रचाए तो भी जायज है लेकिन जब कोई उनके घर के बहिन बेटी के साथ प्रेम करे तो उसका क़त्ल? आखिर वो कौन सी सोच हो जो दुसरे की घर की बहिन बेटियों के साथ तो प्यार-रंगरेलिया आदि करना चाहती है लेकिन अगर यही उनके घर की बेटियों के साथ होता है न सिर्फ उसका विरोध करती है बल्कि जो ऐसा करता है उसका क़त्ल कर देती है?

इसी सोच का शिकार हाथरस का आरिफ नामक एक युवक हुआ है जिसकी  खालिद तथा पप्पन हत्या सिर्फ इसलिए कर दी क्योंकि आरिफ का उनके परिवार की किसी युवती के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था. मामला हाथरस के हसायन क्षेत्र के रायपुर टप्पा गाँव का है. बताया जाता है रायपुर टप्पा गाँव के आरिफ का गाँव के रहने वाले वाले पप्पन की भांजी के साथ अफेयर चल रहा था. इस अफेयर की जानकारी पप्पन व् उसके परिवार को हुई तो पप्पन ने आरिफ की हत्या करने की साजिश रची.

बताया गया है कि लगभग दो सप्ताह पूर्व पप्पन पुत्र वाहिद ने अपने साथी खालिद पुत्र तालिब के साथ मिलकर आरिफ की ह्त्या कर दी तथा दोनों फरार हो गये. आरिफ के परिजनों ने खालिद तथा पप्पन के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई थी जिसके बाद पुलिस ने कल दोनों को गिरफ्तार कर लिया तथा जेल भेज दिया.


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share