Breaking News:

‘नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने मेरे खिलाफ साजिश और दुष्प्रचार किया था, इसीलिए सभी पदों से बेदखल किया’

लखनऊ : यूपी विधानसभा चुनाव में जबरदस्त हार के बाद बुहजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी को सभी पदों से बेदखल कर दिया है। सिद्दीकी अब केवल राष्ट्रीय सचिव पद पर ही महासचिव होंगे। नसीमुद्दीन को यूपी की राजनीति से दूर करते हुए मध्यप्रदेश का प्रभारी बनाया गया है। नसीमुद्दीन सिद्दीकी का कद छोटा करने के साथ ही मायावती ने लालजी वर्मा को बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। 
प्रदेश के जोनल कॉडिनेटर और जिला कॉडिनेटर को तत्काल पद से हटा दिया है। अब लालजी वर्मा नए कॉडिनेटर का चयन करेंगे। गौरतलब है कि विधानसभा के चुनाव और उससे पहले लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद बसपा ने खुद को बदलने का फैसला किया है इसी नाते अभी तक परोक्ष रुप से खुद को निकाय चुनाव से दूर रखने वाली बसपा ने निकाय चुनाव में पार्टी सिंबल के साथ उतरने का फैसला किया है। 
मायावती ने कहा कि चुनावों के दौरान हमारे ख़िलाफ साजिश और दूष्प्रचार किया गया था। उन्होंने कहा कि हमारे ऊपर सबसे ज़्यादा मुसलमानों को टिकट देने का आरोप लगाकर दुष्प्रचार किया गया था। मायावती ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि मुझे मालूम है कि हमारी पार्टी के कुछ लोगों ने पैसे लेने को धंधा बना लिया है, अब ऐसा नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि वह ऐसे कार्यकर्ताओं पर कड़ी नजर रख रही हैं और दोषी पाए जाने वालों को सजा दी जाएगी। 
मायावती ने कहा कि प्रत्येक सीट के लिए पार्टी ही कैंडिडेट तय करेगी और उस पर मजबूती से टिकेगी, इसमें कोई बदलाव नहीं किया जाएगा। इस दौरान मायावती ने साल 2019 में लोकसभा चुनाव के लिए रणनीति बनाएंगी। मायावती ने कहा कि बीएसपी मूवमेंट के सामने तमाम नई चुनौतियां है, जिनका डटकर मुकाबला और नई शक्ति के साथ करना चाहती है। इसलिए मिशनरी भावना के साथ लगातार काम करना होगा। 
 
Share This Post