Breaking News:

पुलिस ने नहीं सुनी शिकायत, तो इस युवती उठाया बेहद चौंका देने वाला ये कदम….

बहराइच : इंसान की जिन्दगी में कब क्या हो जाए कुछ नहीं कहा जा सकता है। अनहोनी कभी भी हो सकती है और खासकर लडकियों की सेफ्टी के मामले यदि कुछ कहा जाए, तो उनके मामले में बहुत संवेदनशीलता बरतनी पड़ती है। क्यांकि आज के टाइम में महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराधों में तेजी से इजाफा हो रहा है। हर रोज हमें कोई ना कोई अपराध की खबर सुनने को मिल ही जाती है।
 
ऐसी ही एक खबर आ रही है उत्तर प्रदेश के जरवलरोड थाना क्षेत्र से जहां पर एक युवती ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। युवती को 24 अप्रैल के दिन पार्लर से आते समय अगवा कर गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया गया। युवती के परिवारवालों ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस ने उनकी शिकायत पर कोई कार्यवाही नहीं की। जिसके बाद पुलिस के इस रवैये से परेशान होकर युवती ने बुधवार देर रात को फांसी के फंदे पर लटक कर खुदखुशी कर ली।

युवती की खुदखुशी की खबर सुनकर पुलिस में हडकंप मच गया, पर अभी तक कोई केस दर्ज नहीं हुआ है। उधर, पुलिस का कहना है कि युवती के परिजनों का आरोप सरासर गलत है। पुलिस ने बताया कि युवती का किसी युवक के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था और युवती उस युवक से शादी करना चाहती थी लेकिन युवती का रिश्ता जबरन किसी और के साथ तय कर दिया गया था इसी बात से नाराज होकर युवती ने आत्महत्या जैसा कदम उठाया। लेकिन अभी पूरे मामले की जांच जारी है।

बता दें कि जरवलरोड थाना अंतर्गत ग्राम सभा हंसना धवरिया के मजरा भुंडेपुरवा निवासी 22 साल की युवती 24 अप्रैल को जरवलरोड बाजार में स्थित ब्यूटी पार्लर गई थी। बताया जाता है कि दोपहर में एक बजे जब वह घर लौट रही थी, तभी जरवलरोड चीनी मिल यार्ड के निकट कार सवार युवकों ने उसे अगवा कर लिया। अगवा करने के बाद गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया। किसी तरह वह अपहर्ताओं के चंगुल से मुक्त हुई।

मंगलवार देर शाम युवती थाने पहुंची और अपनी आपबीती बयां की। लेकिन पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया, जिससे युवती काफी हतोत्साहित हुई। उसने बुधवार सुबह फिर थाने पर मोबाइल से सूचना देकर कार्रवाई की गुहार लगाई, लेकिन पुलिस ने अनसुनी कर दी। इससे आहत युवती बुधवार रात अहाता में जाने के लिए घर से निकली, लेकिन वापस नहीं लौटी। मवेशियों को चारा देने के लिए पिता अहाते में गए तो वहां पर युवती का शव फांसी के फंदे पर लटके हुए देखा।

तो वहीं दूसरी ओर, जरवलरोड थाने के प्रभारी निरीक्षक प्रमोद कुमार सिंह का कहना है कि युवती के परिवार वालों का पुलिस के खिलाफ लगाया हुआ आरोप झूठा है। युवती का गोंडा के रहने वाले एक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था जिससे युवती शादी करना चाहती थी लेकिन युवती के परिजन इसके खिलाफ थे। उन्होंने युवती का विवाह उसकी मर्जी के खिलाफ कहीं और तय कर दिया था, तो हो सकता है कि इसी बात से परेशान होकर उसने आत्महत्या की हो। पुलिस का कहना है कि इस मामले की जांच जारी है और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।

Share This Post