अखिलेश ने डीजे बैन कराया था तो योगी ने कावड़ियों पर बरसाए फूल.. जनता बोली- “एक ही तो दिल है योगी जी, कितनी बार जीतोगे”

जिन आशाओं, उम्मीदों के साथ उत्तर प्रदेश की जनता ने योगी आदित्यनाथ जी को मुख्यमंत्री चुना था, गाड़ी संभालने के बाद योगी जी जनता की उन आशाओं, आकांक्षाओं को पूरा करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं. इसका नजारा तब देखने को मिला जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने खुद हेलीकॉप्टर से कांवड़ियों पर फूल बरसाए. कांवड़ यात्रा में डीजे पर लगी रोक हटाकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कांवड़ियों का दिल तो पहले ही जीत चुके थे, लेकिन उन्होंने हेलीकाप्टर से पुष्पवर्षा कर कांवड़ यात्रा के प्रति श्रद्धा का भाव प्रदर्शित करने के साथ-साथ शिवभक्तों और आमजन का मान भी बढ़ा दिया.

जब योगी जी कांवड़ियों पर फूल वर्षा कर रहे थे तो ऊपर से बरसते फूलों में सेवा की सुगंध थी तो नीचे लगते हर जयकारे में योगी की कर्तव्यनिष्ठा और संकल्प पूरा करने की गूंज सुनाई दे रही थी. लाखों भक्तों ने जब बम-बम बोल बम के बीच ‘फिर से योगी’ का उद्घोष किया तो एक सपना साकार सा होता दिखा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गाजियाबाद से मुजफ्फरनगर तक कांवड़ पटरी मार्ग का हेलीकाप्टर से निरीक्षण किया. इस शानदार नजारे को देखने के लिये जगह-जगह घंटों पहले से ही हुजूम लग गया. लखनऊ से नोएडा पहुंचे योगी आदित्यनाथ ने पहले अधिकारियों के साथ बैठक कर विकास कायरें की समीक्षा की. बैठक के बाद अपराह्न लगभग चार बजे मुख्यमंत्री नोएडा से हेलीकाप्टर द्वारा रवाना हुए. उनके साथ मेरठ जोन के एडीजी प्रशात कुमार व अन्य अधिकारी भी रहे.  उन्होंने गाजियाबाद से मुजफ्फरनगर तक इस शानदार नजारे को हेलीकाप्टर से ही निहारा और जगह-जगह कावड़ियों पर हेलीकाप्टर से पुष्प वर्षा की. इस दौरान लाखों लोगों की निगाह उनके हेलीकाप्टर पर लगी रहीं. मेरठ से मुजफ्फरनगर के पुरकाजी क्षेत्र तक हेलीकाप्टर ने दो चक्कर लगाये. उड़ान के दौरान कई बार हेलीकाप्टर काफी नीचे तक आया तो योगी जिंदाबाद के नारे लगे तो चारों दिशाएं गूंज उठीं. इस दौरान मुख्यमंत्री ने हाईवे पर कावड़ियों की तरफ हाथ हिलाकर उन्हें खुद अभिवादन किया तो कांवड़ियों ने भी हाथ हिलाते हुए अपने मन के भाव उन तक पहुंचा दिए.

बोल बम बोलते हुए शिवभक्त कावडियों पर पुष्प वर्षा कर रहे मुख्यमंत्री बेहद प्रफुल्लित नजर आ रहे थे. इस दौरान सड़क मार्ग पर भ्रमण कर रहे पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के चेहरे पर भी अजीब सी चमक नजर आ रही थी तथा ये नजारा बहुत ही मनोहर था जब नीचे भोले की धुन पर कांवड़िये थिरक रहे थे तो इतिहास मैं ऐसा पहली बार हो रहा था जब कोई मुख्यमंत्री कांवड़ियों पर पुष्प वर्षा कर रहा था. योगी राज में कांवड़ियों को मिले इस प्यार से भावविभोर कांवड़ियों का कहना है कि कांवड़ यात्रा में अड़ंगे लगाने वाले तो तमाम मुख्यमंत्री आए लेकिन योगी आदित्यनाथ ऐसे पहले मुख्यमंत्री हैं, जिन्होंने इस यात्रा को गंभीरता से लेने के साथ इसका मान भी बढ़ाया है. कांवड़ियों का कहना है कि जैसा सोचा था, वैसा ही पाया.  योगी जी ने हमारा मान बढ़ाया है तो हम भी उनका मान बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे क्योंकि योगी ऐसे पहले मुख्यमंत्री हैं, जो वादा करके उसे पूरा भी करते हैं. यदि योगी जी सीएम न होते तो कांवड़ यात्रा में न तो डीजे बज पाते और न हम इस श्रद्धाभाव से भगवान का जलाभिषेक कर पाते.

Share This Post