Breaking News:

फिर से मदरसे में हुआ नाबालिग का बलात्कार. बलात्कारी मोहम्मद कासिम बोला – “मुंह खोला तो कटी लाश मिलेगी नदी में”

शेल्टर हाऊस में हुए तमाम मामलों के लिए न्याय मांगने के लिए अचानक ही सडको पर उतर जाने वालों से ये नाबालिग भी अपने लिए न्याय की आशा कर रही थी लेकिन वो तमाम आवाजें खामोश हो गयी हैं और छिप गये हैं वो तमाम तथाकथित मानवाधिकारवादी और नारी सम्मान के वो तमाम रक्षक जिन्होंने किसी भी लड़की के साथ अन्याय के खिलाफ संघर्ष करने की कसम खाई थी और उसके लिए सत्ता तक से टकराने को तैयार हो गये थे . 

ज्ञात हो की उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में एक और नाबालिग बालिका एक मदरसे में बनी है हैवानियत का शिकार .. इस खुलासे के बाद जैसे ही इसमें मोहम्मद कासिम का नाम आया , उसी समय छा गयी चारो तरफ ख़ामोशी .. यहाँ के नामचीन और प्रतिष्ठित कहे जाने वाले स्थानीय नगर में स्थित मदरसा शमसुल उलूम निस्बां के छात्रावास में एक छात्रा के साथ दुष्कर्म का सनसनीखेज मामला सामने आया है। दुष्कर्म का आरोपी कोई और नहीं बल्कि मदरसे के प्रबंधक का भाई है। प्रदेश में देवरिया कांड के बाद से महिला छात्रावास में इस तरह की घटना सामने आने के बाद पूरे कस्बे में हड़कंप मच गया है।

पीड़िता की मां ने रविवार की देर शाम कोतवाली पहुंच कर मुकदमा दर्ज कराया। कुशीनगर जनपद के पडरौना निवासी पीड़िता की मां ने बताया है कि उसकी पुत्री मदरसा शमसुल उलूम निस्वां में छात्रा है, मदरसे के हॉस्टल में रहकर अरबी-उर्दू की शिक्षा ग्रहण करती है। उसकी पुत्री ने बताया कि 4 अगस्त की रात में हॉस्टल की दाई ने उसे बाथरूम जाने के बहाने बुलाया और रसोईघर में ले जाकर बंद कर दिया। वहां प्रबंधक का भाई मोहम्मद कासिम ने उसके साथ जबरदस्ती दुष्कर्म किया। जब वह शोर मचाने लगी तो उसने धमकी देनी शुरू कर दी, और कहा कि शोर करोगी तो बाहर चार पांच लोग और है जो तु्म्हें जान से मार देंगे। सुबह होने पर पीड़िता ने इस बात की जानकारी उसी हॉस्टल में रह रही अपनी बहन को दी।

पता चला है कि पांच अगस्त को हॉस्टल की सभी छात्राएं बाबू भाई की गिरफ्तारी की मांग करने लगी, इस कारण वहां काफी हंगामा हुआ। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले का संज्ञान लिया, लेकिन प्रबंधक ने मामले को तोड़-फोड़ कर रफा दफा कर दिया। लड़की को धमकाते हुए कहा कि इस बात को तुम और तुम्हारी बहन ने किसी से नहीं बताई तो मै तुम्हाई फीस मांफ कर दूंगा। नहीं तो तुम दोनों बहनों को कटवाकर घाघरा नदी में फिंकवा दूंगा। जिससे दोनों नाबालिग बहनें काफी डर गई थी। रविवार को जब मां अपनी बेटियों से मिलने पहुंची तो उसे इस बात की जानकारी हुई, इस पर उसने देर शाम को कोतवाली पहुंचकर प्रबंधक के भाई, प्रबंधक, हॉस्टल की दाई और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

Share This Post