नारी के लिए न्याय मांगने वाले कब सजा मांगेंगे साजिद व् उसके साथियों के खिलाफ जिन्होंने सरिया से मारा है नारियों को, वो भी घर में घुसकर


तीन तलाक पर केंद्र सरकार द्वारा लाये गये बिल के खिलाफ कुछ नारियों को आगे करके नारी सम्मान का झंडा बुलंद करने वाले नारी सम्मान केतथाकथित ठेकेदारों को चुनौती दी आक्रान्ता साजिद ने जिसने अपने साथी आक्रान्ताओं के साथ एक महिला के घर में घुसकर उसके तथा घर में मौजूद अन्य महिलाओं पर लोहे के सरिया, लाठियों से हमला करके घायल कर दिया. आक्रान्ताओं की ये गुंडागर्दी उत्तर प्रदेश के कैराना के एक गांव में देखने को मिली.

मामला जनपद शामली के कैराना थाना क्षेत्र के गांव गोगवान का है जहां रुकसाना, उसकी पुत्री आबिदा व ननद घर में अकली थी. बाहर खेल रहे बच्चों की पड़ोस के बच्चों के साथ मामूली कहासुनी हो गई. पीड़िता का आरोप है कि पड़ोस का साजिद अपने साथियों के साथ घर में घुस गया और मौजूद परिजनों से गाली गलौज करते हुए लाठी, डंडों व सरियों से हमला बोल दिया. किसी तरह छूटकर रुकसाना घर के बाहर आई तो दबंग हमलावरों ने उसे वहां भी नहीं छोड़ा और सड़क पर ही लाठी व सरियों से पीटना शुरू कर दिया. दबंगों की इस घिनौनी करतूत को गांव के ही एक युवक ने अपने मोबाइल में कैद कर लिया और उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया. वायरल हुए वीडियो से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया और पुलिस ने 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया.

घायल पीड़ित विधवा रुकसाना ने बताया कि बच्चों में आपस में कहासुनी हो गई थी. मैं घर पर अकेली थी, मेरे बच्चे मजदूरी करने गये हुए थे. रुखसाना के अनुसार साजिद तथा उसके तीन साथियों ने घर में घुसकर मारपीट की है. मेरी तथा मेरी ननदों की सरियों और लाठियों से पिटाई की गई. मैं किसी तरह से घर से बाहर निकल गई फिर उन्होंने मुझे तमंचा दिखाया और जान से मारने की धमकी दी. मेरी चार ननद भी घायल हैं. कैराना थाने में तहरीर दी है. इस घटना पर  सीओ कैराना राजेश कुमार तिवारी ने बताया कि इस मामले मे पहले से ही एक मुकदमा हुआ था जिस कारण दोनो पक्षों में रंजिश चल रही थी. मारपीट का वीडियो वायरल में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है. पुलिस के अनुसार विडियो में हमला कर रहे लोगों को सजा दी जायेगी, एक भी आरोपी बख्शा नहीं जायेगा.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share