Breaking News:

प्रदेश धन्यवाद कर रहा UP की सहारनपुर पुलिस को जिसने समाज को तोड़ने की जातिवादी साजिश को विफल कर दिया अपनी सक्रियता से


विगत 09 मई को धर्मयोद्धा वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप जयंती पर जहा राष्ट्र का राष्ट्रभक्त तबका मना रहा था उस अमर बलिदानी की जयंती तो इधर कुछ वविघटनकारी शक्तियां रच रही थी राष्ट्र के विरुद्ध साजिश .  लेकिन बधाई का पात्र है सहारनपुर का वो अति सक्रिय जिला प्रशासन जिस की अतुलनीय सूझबूझ और सतर्कता ने पूरे उत्तर प्रदेश ही नही बल्कि राष्ट्र के कई हिस्सों को जातिवादी हिंसा की आग में जलने से बचा लिया,.. सहारनपुर प्रशासन के इस महान कार्य मे सहारनपुर के आपराधिक तत्वों के अलावा बाकी किसी को भी कोई सन्देह नहीं है ..

जिस प्रकार एक संदिग्ध घटना/दुर्घटना को दूसरा रंग देकर उसमे हिन्दू समाज को जातिवाद की राजनीति में बांटने और एक वर्ग को फंसाने का पूरा षड्यंत्र किया गया, उसे यूपी पुलिस की सहारनपुर पुलिस की एलआईयू (लोकल इंटेलिजेंस यूनिट) के इंस्पेक्टर व् सिपाही ने तत्काल मुस्तैदी से घटनाक्रम की वीडियो बनाकर पूरी तरह से विफल कर दिया है, इसके लिए एलआईयू कर्मचारी, सहारनपुर के पुलिस अधिकारी निश्चित तौर पर जनता के साथ साथ उच्च स्तर से पुरुस्कार के पात्र हैं.. ये कहना गलत न होगा कि शासन की अपेक्षा पर खरा उतरा सहारनपुर का प्रशासन .
पुलिस के पास घटना संदिग्ध होने के पर्याप्त साक्ष्य हैं और हो सकता है कि गलत आरोप लगाकर हंगामा करने वालो पर ही सबूत मिटाने और साक्ष्य छिपाने के आरोप में शिकंजा कस दिया जाए, ऐसा हुआ तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। ग्रामीण और परिवारजन अभी तक घटनास्थल ही नही बता पाए,जो घटना के दिन प्रशासन के समक्ष नारेबाजी व् बयानबाजी कर रहे थे वो सभी अब फंसने के डर से भूमिगत हो गए हैं…ये सिद्ध हो गया कि जो दुसरो के लिए गड्ढा खोदता है अंत में वो खुद उसी में गिरता है,.. ये घटना समाज में जहर घोलने वालो के लिए बड़ा सबक बनकर सामने आई है, इससे प्रेरणा लेने की आवश्यकता है।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share