अपनी मौत का सामान खुद लाया था मुन्ना बजरंगी… सुनील राठी ने तो बस दिशा बदली थी..

कुख्यात अपराधी मुख्तार अंसारी के इशारे पर हिंदुत्व की ज्वलंत आवाज भारतीय जनता पार्टी के विधायक कृष्णानंद राय सहित कई निर्दोष लोगों की हत्याएं करने वाला माफिया मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में ह्त्या कर दी गई. मुन्ना बजरंगी पर 40 लोगों की ह्त्या समेत अन्य कई संगीन आपराधिक मांमले दर्ज थे. अब मुन्ना बजरंगी की ह्त्या में जो तथ्य सामने आ रहे हैं वह काफी हैरान करने वाले हैं.

खबर मिली है कि मुन्ना बजरंगी के पास खुद पिस्टल थी तथा वह पहले से बागपत जेल में बंद माफिया डॉन सुनील राठी की ह्त्या करना चाहता था. हालाँकि अभी तक ये पता नहीं चल पाया है कि आखिर मुन्ना बजरंगी के पास पिस्ट पहुँची कैसे. गौरतलब है कि बाबू बजरंगी की ह्त्या का आरोप माफिया डॉन सुनील राठी पर लगा है. बागपत जेल में मुन्ना बजरंगी की ह्त्या के बाद पुलिस अधिकारियों ने माफिया डॉन सुनील राठी से इस मामले में पूछताछ की है. पुलिसिया पूंछताछ में सुनील राठी ने बयान दिया है कि बजरंगी ही पिस्टल लेकर आया था तथा उसके ऊपर हमला करने की फिराक में था. उसी का पिस्टल छीनकर अपने बचाव में गोली चलाई गई है.

सूत्रों के हवाले से बताया गया कि सबसे पहले सुनील राठी को ही जेलर के कक्ष में बुलाकर अधिकारियों ने पूछताछ की. सुनील राठी ने बताया कि सुबह के वक्त हम कई लोग बाहर बैठकर चाय पी रहे थे. तभी वहां मुन्ना बजरंगी आ गया. मैने उसे चाय ऑफर की तो वह भड़क गया और चाय में जहर देकर मारने का आरोप लगाते हुए गाली-गलौज करने लगा. मैंने कहा कि बजरंगी सुधर जाओ, ये जेल है तो उसने मोटा कहते हुए कहा कि तुमने मेरी हत्या करने के लिए एक करोड़ की फिरौती ली है और उसने मुझ पर पिस्टल तान दी. इसके बाद मैंने उससे पिस्टल छीनकर आत्मरक्षा में उसे गोलियों से भून दिया. हालांकि कोई भी अधिकारी सुनील राठी के इस बयान की पुष्टि नहीं कर रहा है बाकी सच जाँच पूरी होने के बाद ही सामने आ पायेगा.

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW