Breaking News:

जिन्ना के पक्ष में कूदी समाजवादी पार्टी… जिन्ना को बताया गांधी और नेहरू के बराबर

देश में जो वर्तमान स्थितियां बन रही हैं वो न सिर्फ दुखदाई हैं बल्कि चिन्ताजनक और शर्मनाक भी हैं. मोहम्मद अली जिन्ना, वो व्यक्ति जिसने हिंदुस्तान के टुकड़े करवाये वो जिन्ना आज देश की राजनीति का केंद्र बिंदु बन गया है. पूरे देश की सियासत इस समय जिन्ना के नाम से गरमाई हुई है. देश तथा प्रदेश की सत्ता से बाहर विपक्षी राजनैतिक पार्टियां देश को असहनीय व कभी न भरने वाले घाव देने वाले जिन्ना के नाम पर सत्ता में आने का सपना देख रही हैं. देश की जनता को भी ये देखना होगा व सोचना होगा कि जिन राजनैतिक दलों को राज्य तथा देश के विकास आदि के मुद्दे उठाने चाहिए वो पार्टियां देश के दुश्मन जिन्ना के नाम पर सत्ता में आना चाहती हैं, तो उनको जनता के हित से कितना सरोकार होगा, इसको समझना मुश्किल नहीं है.

जिन्ना पर मचे बवाल में अब उत्तर प्रदेश में मुख्य विपक्षी समाजवादी पार्टी भी कूद गई है. अलीगढ़ मुसलिम यूनिवर्सिटी में आजादी के वक्त भारत विभाजन के लिए जिम्मेवार रहे मोहम्मद अली जिन्ना की तसवीर को लेकर विवाद के बीच समाजवादी पार्टी के सांसद ने एक चौंकाने वाला बयान दिया है. हाल ही में उत्तरप्रदेश की गोरखपुर सीट से उपचुनाव जीत कर लोकसभा पहुंचे प्रवीण निषाद ने मोहम्मद अली जिन्ना की तुलना महात्मा गांधी एवं पंडित जवाहर लाल नेहरू से कर दी है तथा कैम्पस में उनकी तस्वीर को जायज ठहराया है.

समाजवादी पार्टी के सांसद प्रवीण निषाद ने कहा है कि जिस तरह गांधी एवं नेहरू ने देश को अाजादी दिलाने में अपना योगदान दिया, उसी तरह जिन्ना ने देश को आजाद कराने में अपना योगदान दिया. उन्होंने कहा कि जिन्ना का योगदान नेहरू व गांधी से कम नहीं है. प्रवीण निषाद को ये समझना चाहिए कि जिस जिन्ना के योगदान को वह देश की आजादी में महत्वपूर्ण बता रहे हैं तो उस जिन्ना का सबसे बड़ा योगदान देश का विभाजन करना था, जिसके कारण लाखों निर्दोष हिंदुस्तानियों कक सरेआम कत्ल किया गया था व लाखों महिलाओं के साथ जिहादियों जे दुष्कर्म किया था. उस जिन्ना को गांधी, नेहरू के समान बताकर, महापुरुष बताकर प्रवीण निषाद ने समाजवादी पार्टी की वास्तविक विचारधारा को देश के सामने उजागर किया है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW