यूपी के गाजीपुर में हिन्दुओं के घरों पर मोहम्मद वाशिद व अन्य उन्मादियों ने कश्मीरी अंदाज में की भयानक पत्थरबाजी.. इलाका गूँज रहा पुलिस के बूटों से

उत्तर प्रदेश गाजीपुर मजहबी आक्रांताओं के कहर से दहल उठा. मामूली सी बात से शुरू हुआ विवाद  ने साम्प्रदायिक तनाव का रूप ले लिया तथा उन्मादियों ने हिन्दुओं के घरों पर कश्मीरी अंदाज में भयानक पत्थरबाजी शुरू कर दी. सूचना पर पहुँची पुलिस ने जैसे तैसे मामला संभाला लेकिन अगले दिन उन्मादियों ने फिर उत्पात शुरू कर दिया. गुरुवार की देर रात हुआ विवाद शुक्रवार को फिर बढ़ गया जब पूरे दिन माहौल शांत रहने के बाद शुक्रवार की रात करीब नौ बजे एक समुदाय(मुस्लिम) के सैकड़ों लोग बाजार में पहुंच गए और जमकर तोड़फोड़ की.

खबर के मुताबिक़, एक बार फिर सूचना पर पुलिस कप्तान सोमेन वर्मा व कई थानों की पुलिस पहुँची तथा काफी मशक्क्त के बाद उन्मादियों पर काबू पाया. देर रात तक पुलिस गांव में गश्त कर रही थी. आपको बता दें कि गाजीपुर जिले के गौसपुर बुजुर्गा गांव के मुहम्मद वाशिद और उसके मित्रों ने पानी के छींटे पड़ने पर लखंदर राजभर की पिटाई कर दी थी. लखन्दर राजभर के विरोध करने के बाद उन्मादियों ने हिन्दुओं के घरों पर कश्मीरी अंदाज में भयानक पत्थरबाजी शुरू कर दी थी. उन्मादियों की इस पत्थरबाजी में सूचना पर पहुंचे पुलिस कोतवाल भी घायल हो गए थे. शुक्रवार को दिन भर स्थिति सामान्य रहने के बाद शाम को फिर एक समुदाय के लोगों ने रात नौ बजे बाजार में पहुंच कर ईट- पत्थर चलाना शुरू कर दिया.

बाजार में ठेलों को पलट कर क्षतिग्रस्त कर दिया। एक दुकान के दरवाजे को ईंट से मारकर तोड़ दिया. तीन गुमटियों को क्षतिग्रस्त करने के साथ ही आरा मशीन में आग लगा दी. आक्रांताओं के कहर का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पुलिस के जवान भी लाचार रहे क्योंकि उपद्रव करने वाले लोगों की संख्या ज्यादा थी. सूचना पर पहुंचे पुलिस कप्तान और कई थानों की पुलिस ने किसी तरह स्थिति को नियंत्रण में किया. फिलहाल स्थित सामान्य है लेकिन पूरा इलाका छबनी में तब्दील कर दिया गया है व पुलिस के बूटों की आवाज से गूँज रहा है.

Share This Post

Leave a Reply