Breaking News:

तबस्सुम की जीत के बाद शुरु हुआ तमाशा.. घर पर भाजपा का झंडा देखा तो कश्मीरी अंदाज में बरसाने लगे पत्थर. बोले- जाकर बुला ले योगी को

RLD की प्रत्याशी तबस्सुम हसन ने कैराना लोकसभा सीट का उपचुनाव क्या जीत लिया, उनके समर्थकों को लग रहा है कि अब उनकी सरकार बन गयी है, जिसमेंउनके विरोधियों को जीवित रहने तक का कोई हक़ नहीं है. कैराना उपचुनाव में तबस्सुम हसन की जीत के बाद उनके समर्थकों ने खुले नंगानाच किया तथा गंगोह क्षेत्र में एक मुस्लिम भाजपाई पदाधिकारी के घर पर जमकर पथराव किया. जानकारी मिली है है कि जीत की खुशी मना रहे तबस्सुम हसन समर्थक लोग भाजपा नेता के घर पर लगे भाजपा के झंडे हटाने की मांग पर अड़ गए और जब भाजपा पदाधिकारी ने ऐसा करने से इंकार कर दिया तो उसके घर पर कश्मीरी अंदाज में भीषण पत्थरबाजी शुरु कर दी. जिसके बाद भाजपा नेता ने अंदर से दरवाजा बंद करके पुलिस को पूरी घटना की जानकारी दी, लेकिन पुलिस के आने से पहले ही तबस्सुम समर्थक उन्मादी भाग खड़े हुए.

गौरतलब है कि गठबंधन प्रत्याशी तबस्सुम बेगम की जीत के बाद सपा बसपा रालोद और कांग्रेस के समर्थकों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा. इस जीत के बाद समर्थकों ने ढोल नगाड़े के साथ ही जुलूस निकाल कर अपनी खुशी का इजहार किया. समर्थक उस समय बेकाबू हो गए, जब गंगोह थाना क्षेत्र के गांव लखनौती में उन्होंने एक मुस्लिम परिवार के घर की छत पर भाजपा का झंडा लगा देखा. बताया जाता है कि खुशी मना रहे समर्थकों ने यह झंडा उतारने की बात कही, लेकिन जब मुस्लिम भाजपा पदाधिकारी ने झंडा उतारने से इंकार कर दिया तो गठबंधन समर्थक घर पर पत्थर बरसाने लगे. इस पर परिवार के लोगों ने अंदर से दरवाजा बंद कर लिया.

उन्मादियों का शिकार हुआ भाजपा समर्थक कार्यकर्ता और सेक्टर संयोजक सलमान जैदी के मुताबिक इसके बाद भीड़ ने उनके घर पर पथराव कर दिया. उनके रोकने पर उन्मादियों ने धमकाया तथा कहा कि जिससे बोलना है बोल दे. मामला बढ़ता हुआ देख उन्होंने तुरंत यूपी हंड्रेड पर पुलिस को सूचना दी. लेकिन, पुलिस के पहुंचने से पहले ही आरोपी माह से फरार हो गए. गंगो कोतवाली प्रभारी संजीव कुमार के मुताबिक मामला दर्ज कर लिया गया है तथा आरोपियों पर कार्यवाही की जायेगी तथा अराजकता बिलकुल स्वीकार नहीं होगी.

Share This Post